Pregnancy

कैसे करें प्रेगनेंसी के दौरान मन में उठने वाले डर को काबू ?

Nandini Muralidharan
Pregnancy

Created by Nandini Muralidharan
Updated on Sep 14, 2017

कैसे करें प्रेगनेंसी के दौरान मन में उठने वाले डर को काबू

एक बार आपने दो गुलाबी रेखाएँ देख लीं, आपका उत्साह सीमाएं नहीं जानता। इसमें दिल धड़कने की खुशी की वो अवस्था आती है, जो फिर इतनी सारी चीजों के बारे में कष्टप्रद व्याकुलता और भय में हल्की हो जाती है। और यदि आप बहुत जल्दी चिंतित हो जाते हैं, तो गर्भावस्था झुंझलाहट की जननी है। कुछ ये सोचना बंद नहीं कर पातीं कि क्या उनका बच्चा स्वस्थ पैदा होगा या नहीं, जबकि कुछ अन्य ये कल्पना करती हैं कि वे बुरी माँ बनने जा रही हैं। पढ़िए और जानिए कि व्याकुलता के सबसे सामान्य कारण क्या हैं, और आप अपनी गर्भावस्था का आनंद उठाने के लिए कैसे उनका सामना करेंगे।

 

1. मेरे बच्चे को संभवतः जन्मजात रोग होगा – न्यूकल ट्रांसल्युसेन्सी स्कैन और अन्य परीक्षण हो जाने के बाद, जिनमें कुछ नहीं निकला, मेरी एक मित्र को अभी भी विश्वास नहीं था। उसने विभिन्न परीक्षणों पर अध्ययन किया जब तक कि अंत में उसके परिवार को दखल देना पड़ा और उसे शांत करना पड़ा। सच्चाई यह है कि माँ की उम्र (35 से ज्यादा), माता- पिता का आनुवांशिक विकार का वाहक होना और गर्भावस्था के दौरान अपना अच्छे से ख्याल रखना आपके बच्चे के स्वास्थ्य में एक बड़ा महत्वपूर्ण कारक है। सुनिश्चित कीजिए कि आप अपनी फोलिक ऐसिड टैबलेट के मामले में नियमित हैं, धूम्रपान व शराब से बचें। यदि आपका वजन बहुत ज्यादा है, अतिरिक्त वजन घटाएँ और सुनिश्चित करें कि आपका ब्लड शुगर बहुत अधिक न हो।  

 

2. मैं प्रसव पीड़ा संभालने में सक्षम नहीं हो पाऊँगी – हर गर्भस्थ स्त्री सोचती है कि प्रसव उसे उलट- पलट करने वाला है। जबकि यह आपके जीवन में सबसे अर्थपूर्ण अनुभवों में से एक होगा, जान लीजिए कि बहुतों ने आपसे पहले इसे किया है और संभावनाएँ हैं कि आप इसे दोबारा करना चाहेंगी। हाँ, ये पीड़ादायक है। परंतु आपके दर्द और व्याकुलता को कम करने में सहायता करने वाले तरीके भी हैं। प्रसव कक्षाएँ लेना और जितना संभव हो श्वास एवं विश्रांति तकनीक पर जानकारी प्राप्त करें। आपका साथी आपका सबसे बड़ा संबल है, इसीलिए उसे शामिल करें जितना ज्यादा आप कर सकती हैं। अपने चिकित्सक से एपीड्युरल के बारे में बात करें और अपने सभी विकल्प तलाशें।

 

3. मैं प्रसव के बाद बढ़ा हुआ वजन कभी नहीं कम कर पाऊँगी – प्रथमतः, माँ, ये समझें कि आपका शरीर किसी चमत्कार से कम प्रक्रिया से गुजरने वाला नहीं है। गर्भावस्था और प्रसव एक स्त्री के शरीर के लिए प्राकृतिक प्रक्रियाएँ हैं और आपको गर्व होना चाहिए। कहा यह गया, प्रसव पश्चात एक बार आप स्वस्थ हो जाएँ तो आपको स्वयं को छोड़ना नहीं चाहिए। एक स्वस्थ खुराक और कुछ मज़ेदार जुम्बा या योग, यदि वो आपके शरीर के मुताबिक हो, आपको स्वस्थ रहने में सहायता करेगा।

 

4. मेरे जीवन साथी के साथ मेरा संबंध प्रभवित होगा – नया मातृत्व एक रिश्ते की सबसे बड़ी कसौटी होती है। और हर नए माँ- बाप बिना भनक लगे इसमें शामिल हो जाते हैं। इसमें कई कठिन दौर आने ही हैं जहां आप और आपके जीवन साथी को सब कुछ देखना है कि कैसे अपने छोटे बच्चे को बोतल से दूध पिलाना है और कैसे अपनी सेक्स लाइफ पर वापस आना है। लेकिन जीवन में किसी और चीज की तरह ही यह भी यह अवस्था है और ये भी गुजर जाएगी। अपने जीवन साथी पर न छोड़ें। अन्य किसी संबंध की तरह ही, संवाद में उपाय है। खुलकर बात करें, वो अजीब वार्तालाप करें और आप देखेंगे कि ये कितनी सहायता करता है।

 

5. मैं एक अच्छी माँ नहीं बनूँगी – यह लगभग हर होने वाली माँ को भयभीत करता है। एक परिपूर्ण माँ का विचार ही भ्रम है। इसलिए जब आपका समय आता है, आपको जरूरत है बस तैयार रहने की और एक असली माँ बनने की। जो अपना सर्वोत्तम प्रयास करती है। नफरत करने वाले नफरत करेंगे, लोग राय बनाएँगे। मैंने कभी उनका विश्वास नहीं किया जब मेरी माँ ने मुझे बताया कि मैं जान जाऊँगी मेरे बच्चे के लिए सबसे अच्छा क्या है। परंतु अब मैं यह पक्का विश्वास करती हूँ कि कई मामलों में, ‘वो’ क्या कहते हैं इसकी परवाह किए बिना, मुझे सिर्फ अपनी अन्तःप्रेरणा पर विश्वास करने की आवश्यकता है।

 

जबकि गर्भावस्था संबन्धित व्यग्रता और भय बिलकुल प्राकृतिक हैं, हमेशा यह बात दिमाग में रखिए कि हल्की व्यग्रता और अवसाद के बीच एक महीन सीमा-रेखा है। यदि आप स्वयं को लगभग हर समय उदास और अवसादग्रस्त पाती हैं, तो अपने चिकित्सक को बताएँ। यदि गर्भावस्था के दौरान इसे बिना इलाज के छोड़ दिया गया, प्रसव पश्चात अवसाद की संभावनाएं बहुत अधिक हो जाती हैं। क्या आपको इसी प्रकार का कोई भय अथवा व्याकुलता है ? यदि हाँ, कृपया अपने भय को हमारे साथ नीचे दिए गए कमेन्ट सेक्शन में साझा करें और आपने उनसे बाहर निकलने के लिए क्या किया।    

  • Comment
Comments()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ START A BLOG
Top Pregnancy Blogs
Loading
Heading

Some custom error

Heading

Some custom error