गर्भावस्था कैलेंडर के हिसाब से आपका प्रत्येक दिन

गर्भावस्था का पांचवां सप्ताह

गर्भावस्था का पांचवां सप्ताह

5वें सप्ताह की गर्भावस्था में, आप गर्भावस्था के शुरूआती लक्षणों को देख सकते हैं  लेकिन यदि किन्हीं कारणों से आप महसूस नहीं कर पाती है तो भी चिंता ना करें। इस सप्ताह में कुछ लोग मतली या स्तन में कोमलता का अनुभव करते हैं, जबकि कुछ महिलाओं को कोई बदलाव नहीं दिखता है। बेशक आप सबूत देखना चाहती होंगी की आपका बच्चा प्राकृतिक रूप से बढ़ रहा है या नहीं ,फिर भले ही वह सुबह की बीमारी क्यों न हो। लेकिन लक्षणों की कमी का मतलब यह नहीं है कि कुछ गलत है, यह सब वास्तव में हो रहा है और आपका बच्चा विकास के कुछ महत्वपूर्ण चरणों से गुज़र रहा है।

गर्भावस्था के 5वें सप्ताह में आपके बच्चे का विकास

आपका बच्चा अब मटर के आकार का है। आपके गर्भाशय में बहुत अधिक परिवर्तन हो रहा है। बच्चे का चेहरा बन रहा हैं और जल्द ही उसके हाथ और पैर भी बन जाएंगे। आपके बच्चे का सिर आकार लेने जा रहा है। आपके बच्चे के सिर ऊतकों की परत विकसित होकर जल्द ही उसका जबड़ा, गाल और ठोड़ी बन जाएगा और आपके बच्चे का चेहरा बन जाएगा। चेहरे पर छोटे बिंदु कुछ हफ्तों में बच्चे की आंखें और नाक बना देंगे।

 

गर्भावस्था के पांचवें सप्ताह में आप में परिवर्तन

  • इस स्तर पर,  आप एक क्षण भावनात्मक महसूस करेंगी , दूसरे पल खुशहाल और अगले ही पल कुछ और मूड हो सकता हैं। ये लक्षण पूरी तरह से सामान्य हैं क्योंकि भावनाओं का बदलाव अक्सर हार्मोन के उलट पुलट होने कारण होता है।
     
  • इस अवधि के दौरान, यानी उर्वरक अंडे के प्रत्यारोपण के ठीक बाद, आपका शरीर हार्मोन छोड़ना शुरू कर देगा, जिसे एचसीजी कहा जाता है -यह शरीर में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन को नियमित करेगा।
     
  • एस्ट्रोजन आपके बच्चे के भ्रूण विकास, नाल विकास और आपके स्तन ग्रंथि वृद्धि के लिए ज़िम्मेदार होता है। यह सब आपके बच्चे के जन्म के बाद स्तनपान को प्रभावित करेगा। प्रोजेस्टेरोन आपकी गर्भावस्था में बढ़ता है और जब आप बच्चे को जन्म देते हैं तब रुक जाएगा। प्रोजेस्टेरोन की वजह आपके रक्त प्रवाह में वृद्धि होती है, जिससे प्लेसेंटा का गठन होता है और बच्चे के विकास को उत्तेजित करता है।
     
  • इन दो हार्मोनों के कारण है आपका शरीर गर्भावस्था के कुछ लक्षणों से ग्रस्त हो सकता है, जैसे मूड स्विंग्स और सुबह की बीमारी।

इस समय आपके लिए पोषण

  1. सुबह की बीमारी को कम करने के लिए: इस चरण में सुबह की बीमारी सबसे समस्याग्रस्त पहलू में से एक है। इससे छुटकारा पाने के लिए, आपको कम मात्रा में ही सही लेकिन कई बार भोजन करना चाहिए। खाने के बाद लेटे नहीं और मसालेदार और चिकने खाने से पूरी तरह से कटौती करें। इसके बजाय, अपने बिस्तर के बगल में कुछ ऐसा खाने को रखे जिससे आप अच्छा महसूस करती हैं।
     
  2. थकान से लड़ने वाली युक्तियां : दिन के दौरान भी झपकी लें ,यह आपको थकान से निपटने में मदद करेगा। आपके बच्चे के जन्म के बाद भी यह एक महत्वपूर्ण पहलू होगा। रात में जल्दी सोने की आदत डाले और कैफीन छोड़कर दिन के दौरान बहुत सारे तरल पदार्थ पीएं, जो ऊर्जा को बढ़ावा दे।
     
  3. कब्ज से मुकाबला: कब्ज से लड़ने के लिए, तरल पदार्थ का सेवन बढ़ाएं और हर दिन कम से कम 10 कप तरल पदार्थ का सेवन शुरू करें। पके और कच्चे, सब्जियां और फलों दोनों को ताजा खाए । पैर की अंगुली वाला व्यायाम करें क्योंकि यह कब्ज को रोकने में मदद करता है।
     
  4. लौह: क्या आप जानते है कि आपकी गर्भावस्था के अंत तक, आपके शरीर के माध्यम से 50 प्रतिशत रक्त आपके बच्चे में घूमऐगा ? इसका अर्थ यह है कि आपको प्रसवपूर्व विटामिन और पूरक के रूप में 50 प्रतिशत अधिक लौह का सेवन करने की आवश्यकता है।

 

 इन बातो पर ध्यान दें

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

Recommend Reading If You are in middle of:
  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}