Health and Wellness

सफाई की आदत से होते हैं कई लाभ, बच्चों में ऐसे डालें सफाई की आदत

Parentune Support
All age groups

Created by Parentune Support
Updated on Feb 03, 2018

सफाई की आदत से होते हैं कई लाभ बच्चों में ऐसे डालें सफाई की आदत

जीवन में साफ-सफाई का काफी महत्व है। स्वस्थ शरीर, मन और आत्मा के लिए स्वच्छता बहुत जरूरी है। अगर शरीर स्वस्थ नहीं रहेगा, तो दिमाग भी स्ववस्थ नहीं रहेगा। सफाई के बिना सारी चीजें गड़बड़ा जाएंगी। यही वजह है कि स्वच्छता पर इतना जोर दिया जाता है और बच्चों को स्कूल में सफाई का महत्व बताया जाता है, पर आज सभी लोग इस जिम्मेदारी को नहीं निभा रहे हैं। इसी वजह से देश में जहां-तहां अक्सर गंदगी नजर आती है। अगर आप पैरेंट्स हैं और अपने बच्चे को एक अच्छा नागरिक व इंसान बनाना चाहते हैं, तो जरूरी है कि आप उसे सफाई का महत्व व इसकी आदत बचपन से ही डालें। इससे बड़ा होकर वह इस पर अमल करता रहेगा और अपनी तरक्की के साथ-साथ देश की तरक्की में भी योगदान देगा। यहां हम बताएंगे आखिर क्यों जरूरी है सफाई और कैसे डालें बच्चों में इसकी आदत।


सफाई के फायदे
 

  1. बीमारियां नहीं भटकेंगी आसपास – अगर आप अपने घर के आसपास, अपने घर व शरीर को साफ रखते हैं, तो इससे आप बीमारी से बचे रहते हैं। दरअसल घर में व आसपास गंदगी रहने से उसमें मक्खी व मच्छर बैठेते हैं। यही मच्छर व मक्खी आपके खाने की चीजों पर भी बैठते हैं। इससे संक्रामक बीमारियों के फैलने का खतरा रहता है। इसके अलावा मच्छर के काटने से डेंगू भी हो सकता है। शरीर में भी सफाई न रखने से कई तरह की बीमारियां फैलती हैं। ऐसे में सफाई रखने से इन सब बीमारियों के होने का खतरा नहीं रहता है।
     
  2. होगी पैसों की बचत – अगर आप बीमार नहीं पड़ेंगे, तो आपको डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं होगी। इससे दवाई व डॉक्टर की फीस पर होने वाला खर्चा बचेगा और आपके पैसों की बचत होगी।
     
  3. होगा व्यक्तित्व का विकास – अगर आपका शरीर स्वस्थ रहेगा, तो आप पूरी ऊर्जा से काम कर सकेंगे। आप खुद को तरोताजा महसूस करेंगे और अपना सौ प्रतिशत किसी भी काम में दे सकेंगे। इससे आपके व्यक्तित्व का भी विकास होगा। पर ये तभी संभव होगा जब आप अपने आसपास व अपने शरीर की सफाई रखेंगे। अपने घर के आसपास गंदगी को जमा नहीं होने देंगे।

 

ऐसे डालें सफाई की आदत

  •  1 साल के बच्चे की सफाई तो आपको खुद करनी पड़ेगी, लेकिन जब बच्चा 2 साल या उससे ऊपर को हो जाए और चीजों को समझने लगे तो उसे सफाई का महत्व बताते हुए दिन की शुरुआत हाथ-मुंह धोने से कराएं। उसे बताएं कि इसके क्या फायदे होते हैं। उसे दांतों की सफाई भी 3-4 मिनट तक ठीक से करने को कहें। दिन में 2 बार ब्रश कराएं। बचपन में ही अगर आप उसे सिखा देंगे कि इस तरह ब्रश करने से उसके दांत कैविटी से मुक्त रहेंगे, तो वे आगे जाकर इस पर अमल करते रहेंगे।
     
  • बच्चे को 2-3 साल की उम्र से ही नियमित स्नान की आदत डलवाएं। वह नहाने में आनाकानी करेगा, लेकिन उसे न नहाने के नुकसान व नहाने के फायदे बताते हुए अगर आप रोजाना नहलाएंगे, तो वह धीरे-धीरे इसका महत्व समझ जाएगा और बड़े होने पर यह उसकी आदत में शुमार रहेगा। इसके अलावा उसे एंटी बैक्टीरियल साबुन से नहाने को भी शिक्षित करें, तो बेहतर रहेगा।
     
  • बचपन में ही बच्चे को खाने से पहले हाथ न धोने के नुकसान के बारे में बताएं। उसे खाने से पहले रोज हाथ धोने को कहें। धीरे-धीरे वह इसे सीख लेगा और आगे खुद ही इस पर अमल करता रहेगा।
     
  • अपने बच्चे को समझाएं कि शरीर की सफाई रखने के साथ ही घर, मुहल्ले व आसपड़ोस के इलाके को भी साफ रखना चाहिए। उसे इसे बात का अहसास दिलाएं कि घर के आसपास गंदगी रखने से किस तरह के नुकसान होते हैं और इन्हें साफ रखना क्यों जरूरी है। उन्हें बताएं कि रोड पर इधर-उधर कूड़ा व गंदगी फेंकने की जगह डस्टबिन का इस्तेमाल करना चाहिए। अगर वह शुरू से ऐसा करेगा, तो ये भी उसकी आदत बन जाएगी।
     
  • सफाई को राष्ट्रहित व देश से जोड़कर भी बच्चे को समझाने की कोशिश करें। उसे बताते रहें कि कैसे आसपास के माहौल को साफ न रखने से शहर व देश की छवि खराब होगी। कैसे इससे विकास प्रभावित होगा। अगर ये सब चीजें उसके मन में ठीक से बैठ गईं, तो वह सफाई का महत्व समझ जाएगा और कभी आसपास गंदगी नहीं रखेगा।

  • Comment
Comments()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ START A BLOG
Top Health and Wellness Blogs
Loading
Heading

Some custom error

Heading

Some custom error