Education and Learning

सेक्स से सम्बंधित सवाल पूछने पर बच्चे को डांट कर चुप कराना क्यों है ग़लत

Parentune Support
7 to 11 years

Created by Parentune Support
Updated on Jul 07, 2018

सेक्स से सम्बंधित सवाल पूछने पर बच्चे को डांट कर चुप कराना क्यों है ग़लत

आपको भले ही सेक्स के बारे में बच्चों से बात करना अटपटा लगता हो, लेकिन सेक्स एजुकेशन भी बच्चों के लिए उतनी ही ज़रूरी होती है जिनकी की अन्य विषयों की शिक्षा |   इसके बारे में आपको उनसे ज़रूर बात करनी चाहिए |  

ज़्यादातर माता-पिता ये नहीं समझ पाते कि बच्चों से इस बारे में बात कैसे शुरू की जाये |   सर्वे बताते हैं कि बहुत कम बच्चों को ही अपने माता-पिता द्वारा सेक्स एजुकेशन मिलती है |   ज़्यादातर बच्चे टीवी और विज्ञापनों के द्वारा सेक्स के बारे में जानते हैं |   लेकिन ये चीज़ें उन्हें सेक्स के बारे में ज़रूरी बातें नहीं सिखातीं |   उन्हें इसके बारे में सही शिक्षा देना आपकी ज़िम्मेदारी है |  

अगर आप उन्हें सेक्स के बारे में गलत चीज़ें सीखने से बचाना चाहते हैं, तो खुद पहल कर के उन्हें सही चीज़ों के बारे में बताएं |   आजकल कई स्कूलों में भी सेक्स एजुकेशन को अनिवार्य बनाया जा रहा है |   

कई देशों में पहले ही इसे स्कूलों में अनिवार्य बनाया जा चुका है |   लेकिन बच्चे अपने माता-पिता से ही सबसे अच्छी तरह सीखते हैं |   अगर आप उनसे इस बारे में बात नहीं करेंगे, तो उनके दिमाग में सवाल उठते रहेंगे और वो इसे लेकर कन्फ्यूज़ रहेंगे |  

बच्चों से इन विषयों पर बात करने से आपके और उनके बीच दोस्ताना रिश्ता बनेगा और वो आपसे सभी तरह की बातें शेयर करने में सहज हो पाएंगे |   जब आपका बच्चा बच्चे के जन्म से सम्बंधित सवाल करता है और आप उसे सही जवाब नहीं देते, तो उसकी जिज्ञासा ख़त्म नहीं होती |   आपको उसकी जिज्ञासा ख़त्म करने की और उसे इन मामलों के बारे में  शिक्षित करने की कोशिश करनी चाहिए |  

आप अगर ये पहल सही समय पर नहीं करते हैं, तो बच्चे को कोई मिस गाइड भी कर सकता है |   बच्चे के किसी भी सवाल पर उसे डांट कर चुप करा देना एक गलत कदम होता है |   आपको उन्हें सब कुछ बताने कि ज़रूरत नहीं है, लेकिन ज़रूरी जानकारी उन्हें ज़रूर होनी चाहिए |  

टेक्नोलॉजी के ज़माने में आप बच्चे को नहीं भी बताएँगे, तो बच्चे को इन चीज़ों के बारे में पता चल जायेगा, लेकिन ये ज़रूरी नहीं है कि अन्य जगहों से उसे सही जानकारी ही मिले |  

बच्चे से नज़रें मिला कर बात करें, सेक्स एजुकेशन से बच्चों को न स़िर्फ अपने शारीरिक विकास के बारे में पता चलता है, बल्कि सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज़ और अनवांटेड प्रेग्नेंसी (अनचाहा गर्भ) के बारे में भी वो जान पाते हैं, जो उन्हें ग़लत रास्ते पर जाने से रोकने में कारगर होगा |   इसलिए झिझक को छोड़ कर आपको खुद ही अपने बच्चों को शिक्षित करना चाहिए |  

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 1
Comments()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Jan 08, 2018

but how n upto what limit?? coz children keep asking another question when one is being ansrd

  • Report
+ START A BLOG
Top Education and Learning Blogs
Loading
Heading

Some custom error

Heading

Some custom error