• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
शिक्षण और प्रशिक्षण

40 फ्रैक्चर के साथ जन्मे बच्चे कि देखभाल के लिए पिता ने जॉब छोड़ दिया, आज बेटा करोड़ों कमाता है

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jun 21, 2020

40 फ्रैक्चर के साथ जन्मे बच्चे कि देखभाल के लिए पिता ने जॉब छोड़ दिया आज बेटा करोड़ों कमाता है
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

शरीर में 40 फ्रैक्चर के साथ एक शिशु जन्म लेता है, डॉक्टर ने कह दिया कि इस नन्हे की स्थिति इतनी गंभीर है कि ये बमुश्किल 2 दिन जीवित रह सकता है। ऑस्टियोजेन्सिस इम्परफेक्टा नाम की बीमारी से पीड़ित इस बच्चे के बारे में जब डॉक्टर ने निराशाजनक बातें कह दी तब उस समय में भी इनके पिता ने हौसला बनाए रखा। आज ये बच्चा विख्यात सिंगर है और अपने स्पीच से हजारों-लाखों लोगों के मन में उम्मीद की किरण जगा देता है। हम बात कर रहे हैं स्पर्श शाह...स्पर्श आज लाखों लोगों के लिए प्रेरणास्रोत हैं। स्पर्श की इस सफलता के पीछे उनके माता-पिता और खास तौर से पिता हीरेन शाह का संघर्ष अतुलनीय है। 

अद्वितीय प्रतिभा के धनी  स्पर्श शाह से जुड़ी खास बातें 

  • स्पर्श के सिर से पैर तक कुल 135 फ्रैक्चर हैं। स्पर्श के गर्दन से लेकर नीचे तक रीढ़ की हड्डी में 19 स्क्रू और दो रॉड लगे हुए हैं।

  • पिछले 7 साल से भारतीय शास्त्रीय संगीत और 3 साल से अमेरिकन संगीत की शिक्षा ले रहे हैं।

  • स्पर्श ने अब तक कुल 10 गीत लिखें हैं और आपको जानकर हैरानी होगी कि इनमें से ज्यादातर गानों के संगीत स्पर्श ने खुद से ही तैयार किया है।

  • स्पर्श को ऑस्टियोजेन्सिस इम्परफेक्टा नामकी बीमारी है और इस बीमारी में हल्के झटके से शरीर की हड्डियां टूट जाती है। स्पर्श या तो बिस्तर पर रहते हैं या फिर व्हीलचेयर पर।

  • मूल रूप से गुजरात के सूरत के रहने वाले सूरत इन दिनों अमेरिका के न्यूजर्सी में रहते हैं।

  • अमेरिका, कनाडा और यूरोप सहित कई देशों में 100 से भी ज्यादा लाइव शो कर चुके स्पर्श को ढेर सारे अवॉर्ड्स भी मिल चुके हैं।

  • अमेरिका में पीएम मोदी के ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में स्पर्श शाह ने राष्ट्रगान गाकर सबको मोहित कर दिया। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पर्श शाह की प्रशंसा की।

  • प्रसिद्ध शो कौन बनेगा करोड़पति में भी स्पर्श शाह ने शिरकत किया। स्पर्श की प्रतिभा को देखकर अमिताभ बच्चन काफी प्रभावित हुए

स्पर्श के पिता का संघर्ष प्रेरणादायक

स्पर्श के पिता हीरेन शाह कहते हैं कि जब डॉक्टर ने उनको बच्चे की स्थिति के बारे में जानकारी दिया तब उनके मन में सिर्फ एक सवाल आया कि हे ईश्वर, ऐसा मेरे साथ ही क्यों? लेकिन आज स्पर्श की सफलता को देखकर मैं भगवान को दिल से आभार प्रकट करता हूं। एक साक्षात्कार के दौरान अपने माता-पिता के संघर्षों को याद करते हुए स्पर्श बताते हैं कि जन्म के बाद से लगभग 6 महीने तक वे आईसीयू में रहे। उस समय में उनके पिता हीरेन शाह केपीएमजी में नौकरी करते थे। बच्चे की देखभाल के लिए उन्होंने नौकरी छोड़ने का फैसला कर लिया। स्पर्श के इलाज पर तकरीबन 3 करोड़ रूपये खर्च हुए। स्पर्श के पिता पर बहुत ज्यादा उधार हो गया लेकिन अपने बच्चे की देखभाल के लिए उन्होंने इसकी परवाह कभी नहीं की। उधार को चुकाने के लिए उनको कई साल लग गए। इस दौरान स्पर्श की मां जिगिशा शाह ने काफी हिम्मत दिखाया। गुजरात के स्कूल में पढीं मां जिगिशा को अंग्रेजी नहीं आती थी, लेकिन उन्होंने अंग्रेजी सिखा और वे जॉब करने लगीं।

     स्पर्श के पूरे घर में राफ्ट लगे हु हैं ताकि व्हीलचेयर से घर में मूवमेंट करने में दिक्कत ना हो। स्पर्श बस से स्कूल जाते हैं, पियानो क्लास लेते हैं और फिर अपना होमवर्क निपटाते हैं। इस सबमें उनके माता-पिता भरपूर मदद करते हैं क्योंकि किताब-कॉपी उठाने या बहुत ज्यादा शारीरिक सक्रियता दिखाने से हड्डियां टूटने का खतरा बना होता है। दुनिया के 10 सबसे विलक्षण बच्चों में शामिल स्पर्श का जीवन हम सबके लिए प्रेरणादायक है लेकिन यकीनन उनके पैरेंट्स के धैर्य और सकारात्मक भाव प्रशंसनीय है। 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 2
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Jun 22, 2020

Asi maa papa bhagbhan har kisi ko da

  • Reply | 1 Reply
  • रिपोर्ट

| Aug 07, 2020

Rahim..

  • Reply
  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें

टॉप शिक्षण और प्रशिक्षण ब्लॉग

Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}