• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
शिक्षण और प्रशिक्षण बाल मनोविज्ञान और व्यवहार

पापा ने दिया ऐसा प्रशिक्षण कि धमाकों के बीच हंसती है 4 साल की ये बच्ची

Prasoon Pankaj
1 से 3 वर्ष

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Feb 20, 2020

पापा ने दिया ऐसा प्रशिक्षण कि धमाकों के बीच हंसती है 4 साल की ये बच्ची
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

देश में जंग के हालात बने हों, गोलियों की तड़तड़ाहट और बम के धमाकों की गूंज लगातार सुनाई दे रही हो। भय और दहशत के इस माहौल में खुद को व अपने परिवार को संभालना किसी भी पैरेंट्स के सामने सबसे बड़ी चुनौती हो सकती है। सीरिया के इदलिब में सरकार समर्थक सेना और विद्रोहियों के बीच जंग का सिलसिला लगातार जारी है। सीरिया से एक पिता औऱ उनकी 4 साल की बेटी का दिल को छू लेने वाला  वीडियो सामने आया है जो खूब वायरल हो रहा है। 

क्या हालात हैं सीरिया में?      

सीरिया में इन दिनों गृह युद्ध के माहौल बने हुए हैं और वहां की सरकार एवं विद्रोहियों के बीच संघर्ष का दौर जारी है। सरकार ने विद्रोहियों को शांत करने के लिए सेना  उतार दिया है। सेना और विद्रोहियों के बीच गोलीबारी, बमबारी और हवाई हमले हो रहे हैं। स्थानीय लोग अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित ठिकानों पर पलायन करने के लिए मजबूर हैं । अब्दुल्ला अल मोहम्मद के परिवार को भी इदलिब से पलायन करना पड़ा और अब वे सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले अपने रिश्तेदारों के घर में रह रहे हैं। 

सीरिया में जंग के माहौल में सामने आया इमोशनल वीडियो 

22 सेकेंड के इस वीडियो मे अब्दुल्ला अल मोहम्मद और और उनकी 4 साल की बेटी सलवा खूब ठहाके लगा रहे हैं। वीडियो में आप देख सकते हैं कि बम धमाकों की आवाज से सलवा को बिल्कुल भी डर नहीं लग रहा है । दहशत के इस माहौल में हंसने का ये नायाब तरीका सलवा के पिता अब्दुल्ला अल मोहम्मद ने ढ़ूंढ़ निकाला है। अब्दुल्ला ने इस तरीके को लॉफ्टर गेम का नाम दिया है और इसके साथ ही ये बताया है कि मनोवैज्ञानिक रूप से जीवित रहने का ये सर्वश्रेष्ठ तरीका है। (sourse)

मनोवैज्ञानिक दवाब को कम करता है लाफ्टर गेम

पैरेंट्स होने के नाते आप इस बात को बखूबी समझती होंगी कि बच्चों के मन में हर घटना को देखकर किस प्रकार के प्रश्न पैदा होते हैं। आपके बच्चे भी खूब सवाल पूछते होंगे, अब जरा कल्पना कीजिए कि उस जगह के बारे में जहां बमबारी और गोलीबारी होना बहुत सामान्य बात है तो वहां बच्चे किस प्रकार के मनोवैज्ञानिक दवाब के दौर से गुजरते होंगे। सलवा के पिता अब्दुल्ला को भी इसी बात का डर सता रहा था कि कहीं उनकी बच्ची जंग के ट्रॉमा की शिकार ना बन जाए। इसलिए उन्होंने बेहद सूझबूझ से काम लेते हुए अपनी बच्ची का ध्यान भटकाते हुए इन धमाकों को ही लाफ्टर गेम के रूप में बदल दिया। इस गेम को खेलने के लिए कुछ नियम भी उन्होंने तय किए हैं जैसे कि तेज आवाज आने पर यह गेस करना होता है कि ये धमाके की आवाज है या फाइटर प्लेन की…  फिर इसके बाद जवाब देने पर पिता गिरने की एक्टिंग भी करते हैं। इसके बाद सलवा जोर से ठहाके लगाती है और इसमें उनके पिता भी साथ देते हैं। इस ब्लॉग को जरूर पढ़ लें : जंग के माहौल या आतंकी हमले के दौरान बच्चे के सामने क्या करें और क्या ना करें

बच्चों के दिमाग से डर हटाने के लिए क्या करना चाहिए?

बच्चे जंग का मतलब नहीं जानते हैं इसलिए इन परिस्थितियों में हमें अपने बच्चे को सावधानीपूर्वक हैंडल करना चाहिए। डॉक्टरों के मुताबिक 5 साल तक की उम्र के बच्चों का सबसे अधिक मानसिक विकास होता है। इस दौरान हम बच्चे को जो सिखाएंगे वो आसानी से सीखते हैं। इसलिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि हम बच्चे को अच्छी बातें ज्यादा सिखाएं। जंग जैसे माहौल में अगर हम बच्चे के सामने हल्के फुल्के अंदाज में बात नहीं करेंगे या उनका मनोरंजन नहीं करेंगे तो फिर उनके दिमाग में डर हमेशा के लिए बैठ सकता है। यकीन मानिए इस वीडियो को मैंने खुद कम से कम 15-20 बार देखा है और जितनी बार इस वीडियो को देखा उतनी ही बार मैंने अब्दुल्ला की दिल से प्रशंसा की है। विपरित परिस्थितियों में भी अपने बच्चे को आप कैसे सकारात्मक तरीके से प्रशिक्षित कर सकते हैं यह वीडियो इसका सर्वश्रेष्ठ उदाहरण हो सकता है।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप शिक्षण और प्रशिक्षण ब्लॉग

Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}