• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

किन लक्षणों से समझे कि बच्चा ड्रग्स ले रहा है, नशे की लत छुड़ाने के 10 सरल उपाय

Prasoon Pankaj
7 से 11 वर्ष

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Oct 04, 2021

किन लक्षणों से समझे कि बच्चा ड्रग्स ले रहा है नशे की लत छुड़ाने के 10 सरल उपाय
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

मुंबई में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ( NCB) की टीम ने शनिवार की देर रात मुंबई में एक क्रूज पर छापा मारकर ड्रग्स पार्टी कर रहे 8 लोगों को हिरासत में लिया है। न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक कुल 8 लोगों को हिरासत में लिया गया है। इन 8 नामों में एक चौंकाने वाला नाम मशहूर फिल्म एक्टर शाहरूख खान का बेटा आर्यन खान भी शामिल है। युवावस्था और किशोरावस्था में नशे की लत का शिकार बन जाना बहुत बड़ी समस्या बनती जा रही है। पेरेंट्स के लिए सबसे बड़ी चुनौती इस बात को लेकर होती है कि वे कैसे समझ पाएं कि उनका बच्चा कहीं किसी प्रकार के नशे का आदी तो नहीं बनता जा रहा है? पेरेंट्स हर वक्त अपने बच्चे के साथ तो हो नहीं सकते हैं, स्कूल-कॉलेज, ट्यूशन-कोचिंग क्लासेज या दोस्तों के संग वे क्या करते हैं इसका अंदाजा वे कैसे लगा सकते हैं? किशोरावस्था के बच्चों को नशे की लत का शिकार बनने से रोकने में पेरेंट्स क्या कर सकते हैं इसके बारे में हम आपको इस ब्लॉग में विस्तार से जानकारी देने जा रहे हैं।

बच्चा ड्रग्स या किसी प्रकार का नशा करता है इसको जानने के लिए इन लक्षणों को नोटिस करें/ How to Spot Drug Use in Kids In Hindi

  1. अगर बच्चे के स्वभाव या मूड में अचानक से बदलाव आ रहा है तो सतर्क हो जाएं।

  2. अगर बच्चा पहले की तुलना में अब ज्यादा हिंसक या आक्रामक तरीके से पेश आ रहा है

  3. बच्चा अब खुद को एलर्ट मोड में रख रहा हो यानि की माता पिता को अपने कमरे में बिना पूछे आने से मना कर दे रहा है, अपने बैग या आलमारी को छूने से मना कर दे रहा है

  4. अपनी जेबखर्च से ज्यादा पैसे मांगना शुरू कर रहा है

  5. घर के पैसों की चोरी करने लगा हो

  6. अपने दोस्तों से अलग जाकर बात करता हो

  7. बहुत ज्यादा पानी पिने लगा हो और अपने मुंह के बदबू को दूर करने के लिए दांतों को बार-बार साफ करता दिखे

  8. अपने आंखों की लाली को छुपाने के लिए आंखों में किसी प्रकार की दवा डाल रहा हो

  9. घबराहट, बेचैनी, स्वभाव में चिड़चिड़ापन भी लक्षण हो सकते हैं

  10. शारीरिक व मानसिक तौर से थकावट का महसूस होना

  11. याददाश्त का कमजोर हो जाना

  12. नींद की कमी, सिर में दर्द, शरीर में ऐंठन

  13. भूख की कमी, ज्यादा पसीना का आना

  14.  तबियत खराब नहीं होने पर भी उल्टी दस्त होना

  15. फैसला लेने में दिक्कत होना

स्पष्ट कर दूं कि ये सभी लक्षण दूसरी बीमारियों के भी हो सकते हैं लेकिन इन लक्षणों को आप नजरंदाज नहीं करें और एक्सपर्ट या डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। मुंबई के मनोचिकित्सक डॉ हरीश शेट्टी का कहना है कि 14 साल की उम्र से बच्चों में नशे की लत लगने की शुरूआत हो जाती है। डॉ हरीश शेट्टी ने अपना एक अनुभव साझा करते हुए बताया कि उनके पास परामर्श के लिए एक पेरेंट्स अपने 14 साल के बेटे को साथ में लेकर आए थे। उस बच्चे ने अपने हाथों से शीशे का दरवाजा तोड़ दिया था। हालांकि वो बच्चा पढ़ाई में काफी प्रतिभाशाली था और इसके साथ ही अच्छा खिलाड़ी भी। डॉ शेट्टी ने बताया कि यूरीन टेस्ट करवाने के बाद ये स्पष्ट हो गया कि बच्चा नशे का आदी हो चुका है। डॉ शेट्टी बताते हैं कि अगर शुरूआती दिनों में ही काउंसलिंग शुरू कर दी जाए तो बच्चा नशे की लत को आसानी से छोड़ सकता है। लंबे समय तक नशीले व मादक पदार्थों का सेवन करने से बच्चे की याददाश्त कमजोर हो सकती है और बच्चे के व्यवहार में बदलाव आने लगता है। डॉ शेट्टी के मुताबिक वीड, म्याऊ ड्रग MDM जैसे नशे की लत में बच्चे आसानी से आ जाते हैं। इसके अलावा सिगरेट, तंबाकू, गुटखा भी नशे की लत की श्रेणी में आते हैं।
 

बच्चों में नशे का आदी बनने के क्या कारण हो सकते हैं?

नशा मुक्त बचपन और किशोरावस्था में नशे की लत से बचाने के लिए स्कूल व कॉलेज में जागरुकता क्लासेज चलाया जाना चाहिए। खास तौर से बच्चों को मनोवैज्ञानिक शिक्षा देने की आवश्यकता है।

  • अगर परिवार में कोई व्यक्ति नशा के आदी है तो उसको देखकर बच्चे भी नशा करने के लिए प्रेरित हो सकते हैं।

  • पेरेंट्स अगर किसी प्रकार के नशे का आदी हैं तो बच्चों में भी ऐसे जीन्स हो सकते हैं जो उन्हें भी नशे की तरफ खींच सकते हैं।

  • घर में अगर अच्छा वातावरण नहीं है और कलह होता रहता है तो बच्चे नशे की तरफ झुक सकते हैं

  • फैमिली फंक्शन के दौरान शराब इत्यादि का सेवन करने का प्रभाव बच्चों पर हो सकता है

  • घर के तनाव का असर भी बच्चों पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है।

  • कुछ बच्चे प्रयोग करने के चक्कर में एक बार नशा करके देखना चाहते हैं लेकिन अपने हम उम्रो के दवाब के चलते बाद में वे इसकी लत के शिकार बन सकते हैं।

नशे की लत को छुड़ाने में बच्चे की कैसे करें मदद

सबसे जरूरी बात है कि आप अपने बच्चे के अंदर आत्मविश्वास की भावना को प्रबल करें। उनसे बातचीत करके बताएं कि वे इस बुरी लत को छोड़ने के लिए पूरी तरह से सक्षम व सामर्थ्यवान हैं।

  • मनोचिकित्सक या डॉक्टर से काउंसलिंग- अगर कोई बच्चा नशे का आदी बन चुका है और पेरेंट्स इस बात को जान चुके हैं तो सबसे पहले किसी मनोचिकित्सक से परामर्श लें। 

  • अपने बच्चे के साथ संवाद करें

  • अपने बच्चे को ध्यान व योग करने के लिए प्रेरित करें।

  • नींबू पानी के साथ अदरक का रस पानी के संग भी फायदेमंद हो सकता है।

  • अपने बच्चे को ये कहें कि वो अपने मन में ठान लें कि वो अब किसी प्रकार का नशा नहीं करेगा। मन के विश्वास का मजबूत होना सबसे आवश्यक है।

  • नशे की लत छोड़ने के लिए वो अपने कमरे में कई जगहों पर इसको लिख कर रख सकता है ताकि बार-बार उसके मन में ये भावना आती रहे।

  • बच्चे को  पॉजिटिव बातें बताते रहें व शारीरिक रूप से सक्रिय रखें।

  • मनपसंदीदा किताब या मूवी देखने के लिए कहें।

  • नशे के नुकसान के बारे में बताने वाली किताब को बच्चे को गिफ्ट करें

  •  अपने बच्चे के अंदर भूल कर भी संपन्नता का अनुभव नहीं कराएं बल्कि उन्हें आप अपने जीवन के संघर्षों के बारे में बताएं। आप अपने बच्चे को अपनी समृद्धता का एहसास तो कतई नहीं कराएं।

  • अपने बच्चे को शरीर की फिटनेस क्यों जरूरी है इसके फायदों के बारे में बताएं। उन्हें बताएं कि दुनिया की सबसे बड़ी दौलत शारीरिक फिटनेस ही है।

आप अपने बच्चे को एक्सट्रा करिकुलर एक्टिविटीज में इन्वॉल्व करें। डांस म्यूजिक बागवानी  किसी प्रकार के स्पोर्ट्स या हर उस काम में जिसको करने में बच्चे को आनंद आता हो उस काम को करने में शामिल करें। परिवार के संग समय बिताएं और हां अपने बच्चे के अंदर आ रहे किसी प्रकार के बदलाव को नजरंदाज नहीं करें।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}