• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
गर्भावस्था

गर्भवती महिलाओं को प्रदूषण के खतरे से बचाएंगे ये 5 टिप्स

Supriya Jaiswal
गर्भावस्था

Supriya Jaiswal के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Oct 07, 2019

गर्भवती महिलाओं को प्रदूषण के खतरे से बचाएंगे ये 5 टिप्स

वायु प्रदूषण हमारी श्वांस प्रणाली को प्रभावित करता है, जिससे सांस लेने में परेशानी होती है। इससे दमा, ब्रॉन्काइटिस, फेफड़ों का कैंसर, टीबी और निमोनिया जैसे कई रोगों का खतरा बढ़ जाता है। दुनिया भर के कई शहर प्रदूषण के स्तर में लगातार हो रही वृद्धि की समस्या से जूझ रहे हैं। गर्भवती महिलाओं को अपने और होने वाले बच्चे दोनों का ध्यान रखना चाहिए। साथ ही घर में हवा साफ करने वाले यंत्रों को ज़रूर प्रयोग में लाना चाहिए। दमा से पीड़ित गर्भवती महिलाओं को वायु प्रदूषण से बचने के लिए अत्यधिक प्रदूषण के समय घर से बाहर जाने से परहेज करना चाहिए। प्रदूषण में काम आने वाले टिप्स के बारे में जानने के लिए आगे पढ़े।

प्रदूषण के खतरे से बचने के लिए इन उपायों को आजमाएं / Try these remedies to avoid the risk of pollution

प्रदूषण गर्भवती महिलाओं को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकते हैं। गर्भावस्था के पहले और दूसरे तिमाही में वायु प्रदूषण की वजह से समय से पहले बच्चे का जन्म या फिर बच्चे के कम वजन होने का खतरा बढ़ जाता है।

  • गर्भवती महिला को को ज्यादा प्रदूषण और धुंए वाले स्थान से दूर रहना चाहिए : क्योंकि इसके कारण गर्भवती महिला के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है, जिसके कारण आपको परेशानी हो जाती है, और प्रदूषण के कारण आपके होने वाले शिशु के स्वास्थ्य पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है, इसीलिए आपको ध्यान रखना चाहिए की आप किसी भी ऐसी स्थान पर ना जाएं जहा पर धुआं हो, और यदि जाएं तो चेहरे पर मास्क का इस्तेमाल करें, इसके कारण आपको प्रदूषण से बचने में मदद मिलती है।

  • वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) को जानें - वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) आपके द्वारा सांस लेने वाली हवा की गुणवत्ता पता करने में मदद करता है। एकदम साफ दिखने वाली हवा भी छोटे कणों से प्रदूषित हो  सकता है, जो नग्न आंखों के लिए अदृश्य है। आप जिस क्षेत्र में रहते हैं उसकी वायु गुणवत्ता सूचकांक रिपोर्ट जरुर देखें। विभिन्न ऑनलाइन संसाधन आपको अपने क्षेत्र के एक्यूआई को खोजने में मदद कर सकते हैं। इस ब्लॉग को जरूर पढ़ लें :- ये 8 घरेलु नुस्खे प्रदूषण से लड़ने में रक्षा कवच का काम करते हैं
  • वायु शोधक में निवेश करें- प्रदूषण का मतलब केवल बाहर की हवा नहीं है, इसका मतलब है कि आपके घर के अंदर हवा भी है। बाहर की तुलना में घर के अंदर प्रदूषण कम से कम दो से पांच गुना अधिक होते हैं। घर के लिए एक वायु शोधक खरीदना इस समस्या को काफी हद तक हल कर सकता है। वे हवा से धुआं, एलर्जीस, मोल्ड और रोगाणुओं को हटाने में मदद करते हैं, और आपको एक स्वस्थ वातावरण देते हैं।

  • स्वस्थ विकल्प का प्रयोग करें - रासायनिक आधारित बाल वाले स्प्रे, पेंट, और यहां तक ​​कि खाना पकाने के कुछ तरीके आपके घर में हवा को दूषित कर सकते हैं अपने घर में प्राकृतिक क्लीनर और रसोई में एग्जॉस्ट फैन का उपयोग करके एक स्वस्थ वातावरण बनाया जा सकता है।
     
  • वायु शुद्धक पौधों को खरीदें- पौधे प्राकृतिक फिल्टर के रूप में कार्य करते हैं। सभी गर्भवती महिलाओं को  विभिन्न वायु शुद्धिकरण पौधों को खरीदना चाहिए , जो कार्बन डाइऑक्साइड को ऑक्सीजन में बदलने में मदद करते हैं। नाग पौधा ,पीस लिली ,सफ़ेद मुस्ली ,देवदार का पौधा आदि वायु शुद्धिकरण पौधों के कुछ उदाहरण हैं। सर्वोत्तम परिणामों के लिए, प्रत्येक 100 वर्ग फुट पे एक पौधा लगाएं।

प्रेग्नेंसी के दौरान आपको खास ख्याल रखने की जरूरत होती है, महानगरों या शहरों में खास कर के प्रदूषण बड़ी समस्या बन कर सामने आ रहा है। ऐसे में अगर आप उपर बताए गए उपायों को आजमाकर प्रदूषण के खतरे से खुद को और अपने होने वाले बच्चे को सुरक्षित रख सकती हैं।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 1
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Aug 15, 2018

Sahi kaha aapne supriya

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
टॉप गर्भावस्था ब्लॉग

Always looking for healthy meal ideas for your child?

Get meal plans
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}