गर्भावस्था

मर्दों की प्रजनन क्षमता के लिए ये चार चीज़ें हैं हानिकारक

Anubhav Srivastava
गर्भावस्था

Anubhav Srivastava के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Sep 13, 2018

मर्दों की प्रजनन क्षमता के लिए ये चार चीज़ें हैं हानिकारक

आप अपनी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में जो भी करते हैं, उसका असर आपके शरीर पर पड़ता है। आधुनिक जीवनशैली में कई ऐसे काम हैं, जिनका पुरुषों की प्रजनन क्षमता पर बुरा असर पड़ता है। आज हम आपको ऐसे कुछ कामों के बारे में बता रहे हैं, जिनका पुरुषों की प्रजनन क्षमता पर नकारात्मक प्रभाव होता है।

 

अगर आप परिवार शुरू करने के बारे में सोच रहे हैं, तो इन बातों का ख्याल ज़रूर रखें/ / Things That Cause Harm To Male Reproduction Capability In Hindi


1.  मोटापा

  • रिसर्च में पता चला है कि मोटापे से पीड़ित मर्दों में कुल शुक्राणुओं की संख्या 24 प्रतिशत तक कम होती है।
     
  • मोटापे से मर्दों में हार्मोनल संतुलन बिगड़ जाता है, जिससे शुक्राणु कम बनते हैं | मोटापे के कारण पुरुषों को यौन संबंध बनाने में भी दिक्कत पेश आती है | फ़िट रहने की कोशिश करें और खान-पान पर विशेष ध्यान दें।


2.  तनाव

  • 2014 में हुए एक अध्ययन में पाया गया था कि स्ट्रेस या तनाव मर्दों की प्रजनन क्षमता को प्रभावित करता है | एक साल में दो या अधिक तनावपूर्ण घटनाओं का सामना करने वाले मर्दों के शुक्राणु विकृत पाए गए थे।
     
  • तनाव से भी पुरुषों के हर्मोन्स में बदलाव आता है, जिसके कारण ये समस्या उत्पन्न होती है | जितना हो सके तनावमुक्त रहने का प्रयास करें | इसके लिए आप मेडिटेशन और योग का सहारा ले सकते हैं | किसी बुरे अनुभव से उबरने में दिक्कत होने पर काउंसलिंग लेनी चाहिए | 


3.  शराब और ड्रग्स

  • नशे की लत आपकी प्रजनन क्षमता के लिए बहुत बुरी है | स्मोकिंग, ड्रग्स और शराब से स्तंभन दोष (erectile dysfunction) होने का ख़तरा भी बढ़ जाता है | वीर्य की गुणवत्ता कम होना, हार्मोन्स का असंतुलित होना और शुक्राणु का उत्पादन कम होने जैसी समस्याएँ भी हो सकती हैं।
     
  • गांजा लेने वाले पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या 29 प्रतिशत तक कम हो जाती है |


4.  गर्मी

  • हॉट टब बाथ, सॉना बाथ आदि ज़्यादा लेने से प्रजनन क्षमता पर असर पड़ता है | इसके अलावा, ज़्यादा चुस्त कपड़े पहनना भी अच्छा नहीं होता | शुक्राणुओं को एक सटीक वातावरण की आवश्यकता होती है। शरीर के तापमान की तुलना में 4 डिग्री कम तापमान शुक्राणु के लिए सही होता है, यही कारण है कि अंडकोष शरीर के बाहर होता है।

 पुरुषों में स्पर्म कंसंट्रेशन का कम होना और स्पर्म की गति में कमी इन्फर्टिलिटी की प्रमुख वजह होती है। पुरुषों की इन्फर्टिलिटी में उनके डाइट की अहम भूमिका होती है। इस विषय  पर बहुत सारे रिसर्च किए जा चुके हैं। रिसर्च के मुताबिक संतुलित आहार से पुरुषों में स्पर्म काउंट को बढाकर उनकी फर्टिलिटी में सुधार किया जा सकता है।   

स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए इस तरह का होना चाहिए डाइट/ Diet To Increase Sperm Count In Hindi

 

  1. विटामिन डी :- फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए ये सुनिश्चित करें कि आपके आहार में विटामिन डी जरूर शामिल रहे। यह पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्‍या बढ़ाने में मदद करते हैं। विटामिन डी का मुख्य स्त्रोत सूर्य की रोशनी है लेकिन इसके अलावा आप अंडा, डेयरी उत्‍पाद, चिकन, मछलियां भी पर्याप्त मात्रा में सेवन करें।
     
  2. ओमेगा 3 फैटी एसिड :- सालमोन और अलसी के बीजों में पाया जाने वाला ओमेगा-3 प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में और गर्भपात के खतरे को कम करने में बहुत मददगार होता है। अधिक तैलीय मछली खाने से शुक्राणुओं की गुणवत्ता में सुधार आता है। 
     
  3. दूध से बनी चीजें :- दूध अपने आप में संपूर्ण आहार माना जाता है। दूध से बने उत्‍पाद का सेवन करने से प्रजनन क्षमता बढ़ती है। इसलिए दूध, दही, बटर, पनीर को  अपने आहार चार्ट में जरूर शामिल कीजिए। 
     
  4. गाजर :- पुरुषों की प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में गाजर बहुत फायदेमंद है। हार्वर्ड युनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने शोध में पाया कि गाजर में पाने जाने वाला तत्‍व पुरुषों की प्रजन क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा इस रिसर्च के मुताबिक नारंगी और पीले रंग की सब्जियों में भी ये गुण होता है।
     
  5. पानी :- जल ही जीवन है। पानी से शरीर के कई सारे अंगों की फंक्शनिंग में मदद मिलती है। इसके अलावा अगर आप ज्‍यादा पानी का सेवन करते हैं तो प्रजनन अंग अच्‍छे से काम करते हैं। पुरुषों में प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए उन्हें नियमित रूप से कम से कम 10-12 गिलास पानी का सेवन करना चाहिए

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
टॉप गर्भावस्था ब्लॉग
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}