गर्भावस्था

मां बनने का प्लान कर रही हैं तो इन 4 जरूरी बातों को जान लीजिए

Parentune Support
गर्भावस्था

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Aug 08, 2018

मां बनने का प्लान कर रही हैं तो इन 4 जरूरी बातों को जान लीजिए

माँ बनने की तैयारी कर रही है तो सबसे पहले अपने स्वास्थ्य को चेक करिए। गर्भधारण करने से पूर्व आपकी पूरी जांच और देखभाल बेहतर प्रसव परिणाम के लिहाज से बेहद आवश्यक होती है। यदि आप गर्भधारण से पूर्व डॉक्टरी देखरेख में रहती हैं तो संभावित खतरों से बचकर अपने गर्भ व बच्चे की सुरक्षा सुनिश्चित कर सकती हैं। गर्भधारण की सही उम्र और सही वजन क्या होनी चाहिए ? शारीरिक और मानसिक रूप से तैयार होना क्यों है जरुरी? इन सब जरूरी सवालों का जवाब पाने के लिए ब्लॉग को आगे पढ़ें..    

मां बनना हर महिला के जीवन का सबसे खूबसूरत एहसास होता है, लेकिन यह एहसास अपने साथ कई प्रकार के सुखद व दुखद अनुभवों को साथ लाता है। हर गर्भवती महिला के मन में खुशी के साथ-साथ एक अजीब सा भय भी होता है। गर्भधारण करने से पहले और उसके बाद कई तरह की परेशानियों से गुजरना पड़ता है। यदि इन समस्याओं को पहले से समझकर आवश्यक परहेज या उपचार ले लिया जाए तो कई बड़ी परेशानियों से बचा जा सकता है। मां की अच्छी सेहत के लिए कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है। 

मां बनने का प्लान कर रही हैं तो इन बातों पर ध्यान दें / planning to become a mother then pay attention to these things in hindi

  1. मानसिक तैयारी जरूरी-- देखा जाए तो मां बनने का इरादा खुद को मानसिक रूप से इस बात के लिए तैयार करना है। यदि आप 25 की उम्र में खुद को मां बनने के लिए तैयार नहीं कर पा रही हैं, तो फिर जबरन किसी के कहने पर आप इसे पूरा भी नहीं कर सकतीं। अच्छा तो यह है कि पहले खुद को मानसिक तौर पर इसके लिए तैयार कीजिए। 
  2. गर्भधारण करने से तीन से छह माह पहले अपनी गाइनेकोलॉजिस्ट  से मिले -- अगर आप भी फैमिली प्लानिंग कर रही हैं तो गर्भधारण करने से तीन से छह माह पहले अपनी गाइनेकोलॉजिस्ट के पास जाएं। गर्भधारण से कुछ माह पहले से डॉक्टर को फॉलिक एसिड सप्लीमेंट पर रखते हैं। गर्भधारण से पहले फॉलिक एसिड लेना प्रजनन शक्ति व भ्रूण के लिए अच्छा होता है। फॉलिक एसिड लेने से बच्चे को जन्मजात दोष से बचाया जा सकता है। इसके बाद मधुमेह, हृदय रोग, थायरॉइड, रक्तचाप, हीमोग्लोबिन आदि की जांच के लिए टेस्ट किए जाते हैं और उसके मुताबिक ही उपचार दिया जाता है। कोई भी दवा का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें।
  3. उम्र की उलझन में ना पड़े --देरी से मां बनने की जो सूची दिनोंदिन लंबी हो रही है, उसमें औरतों का खुद को समय देना भी है। अब औरतें शादी करके सीधे मां बनने की तैयारी में नहीं लग जातीं, बल्कि अब तो शादी की औसत उम्र भी 28 हो गई है। पांच साल पहले से लेकर अब तक में अधिक उम्र में मां बनने में करीब 50 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। उम्र के 30वें पायदान पर भी मां बनने में अब एक महिला को कोई खास जद्दोजहद नहीं करनी पड़ती।
  4. अपने शरीर को तैयार करे --अगर आपका वजन ज्यादा है और  (बी.एम.आई.) 23 या इससे अधिक है, तो डॉक्टर आपको वजन कम करने की सलाह देंगी। वजन घटाने से आपकी गर्भाधान की संभावनाएं बढ़ सकती है और आप अपनी गर्भावस्था की सेहतमंद शुरुआत कर सकती हैं। अगर, आपका वजन कम है, तो डॉक्टर से बी.एम.आई. बढ़ाने के सेहतमंद उपायों के बारे में बात करें। यदि आपका वजन कम है, तो माहवारी चक्र अनियमित रहने की संभावना अधिक होती है। अगर, आपकी माहवारी चूक जाती है, तो आप हर माहवारी चक्र के दौरान डिंब जारी नहीं कर पाएंगी। स्वस्थ बी.एम.आई. 18.5 और 22.9 के बीच होता है।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
टॉप गर्भावस्था ब्लॉग
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}