• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

कौन से महीने में आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर?

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jun 16, 2021

कौन से महीने में आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

कोरोना की पहली और दूसरी लहर के बाद एक्सपर्ट अब तीसरी लहर के आने की संभावनाएं भी जाहिर कर रहे हैं। इसके साथ ही लोग ये जानने को भी इच्छुक हैं की कोरोना की तीसरी लहर आखिर कब तक आ सकती है। हालांकि कुछ एक्सपर्ट का ये भी मानना है कि तीसरी लहर के आने की उम्मीद नहीं के बराबर है लेकिन अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक एपिडेमियोलॉजिस्ट डॉ चंद्रकांत लहारिया ने कोरोना की तीसरी लहर को लेकर कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां साझा की है।

कोरोना की तीसरी लहर के आने की उम्मीद कब तक?

एपिडेमियोलॉजिस्ट डॉ चंद्रकांत लहारिया ने जानकारी देते हुए बताया है कि कोरोना वायरस की तीसरी लहर के अक्टूबर-नवंबर तक आने की संभावना है। हालांकि डॉ चंद्रकांत लहारिया ने ये भी बताया कि पहली और दूसरी लहर के मुकाबले तीसरी लहर कुछ कम प्रभावी हो सकते हैं। 

  • डॉ चंद्रकांत लहारिया ने कहा है कि अब तक मिल रहे अनाधिकृत आंकड़ों के मुताबिक अपने देश में 40 से 50 करोड़ की आबादी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और इनके शरीर में एंटीबॉडीज मौजूद हैं। 

  • एक्सपर्ट के मुताबिक इसके अलावा वैसे भी लोग हैं जिनका वैक्सीनेशन हो चुका है और उनके शरीर में भी एंटीबॉडीज बन चुके हैं।

  • एक्सपर्ट्स के मुताबिक अनुमान ये लगाया जा रहा है कि यदि रोजाना 10 हजार केस आ रहे हैं तो उस समय में केस बढ़कर 20 से 25 हजार तक पहुंच सकते हैं दरअसल लगातार घर रहे केस के बाद अगर केस ज्यादा बढ़ने शुरू हो जाते हैं तो उसको ही वेव यानि लहर माना जाता है।

  • एक्सपर्ट के मुताबिक कोरोना के बदलते वैरियंट भी तीसरी लहर के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। 

  • कोरोना की दूसरी लहर में डेल्टा वैरियंट के चलते बहुत लोग संक्रमित हुए अब इसका नया वैरियंट डेल्टा प्लस मिल चुका है। अनुमान के मुताबिक 60 से 70 फीसदी से ज्यादा लोगों को संक्रमित कर सकता है।

  • रूस में तीसरी लहर आ चुके हैं और इंग्लैंड में तीसरे लहर की शुरुआत हो चुकी है। इसके अलावा भी कई अन्य देश हैं जहां तीसरे लहर के आने के कयास लगाए जा रहे हैं। 

फिलहाल तो एक्सपर्ट्स के मुताबिक अगर वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ा दी जाए और कम समय में ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जाए तो तीसरी लहर के प्रभाव को और कम किया जा सकता है। 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}