• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
शिक्षण और प्रशिक्षण

टाईम मैगजीन की पहली 'किड ऑफ द ईयर' बनी 15 साल की साइंटिस्ट गीतांजलि राव

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Dec 05, 2020

टाईम मैगजीन की पहली किड ऑफ द ईयर बनी 15 साल की साइंटिस्ट गीतांजलि राव
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

भारतीय मूल की गीतांजलि राव (Gitanjali Rao) ने 15 साल की उम्र में वो कारनामा करके दिखा दिया है जिसके लिए संपूर्ण देशवासियों को आज इस बच्ची पर गर्व महसूस हो रहा है। प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन (TIME Magazine) ने गीतांजलि राव को अपने कवर पेज पर किड ऑफ द ईयर के रूप में स्थान दिया है। कुल 5 हजार नामांकित बच्चों में से गीतांजलि राव को इस सम्मान के लिए चयनित किया गया है। वो कहते हैं ना कि उम्र की सीमा किसी उपलब्धि के लिए मोहताज नहीं होती है, इस कहावत को 15 साल की गीतांजलि ने सही मायने में आज चरितार्थ करके दिखा दिया है। साइंटिस्ट ये शब्द सुनते ही आपके जेहन में एक ऐसी तस्वीर घूम जाती होगी जो कि अनुभवी हो, उम्रदराज हो और गंभीर हो...लेकिन क्या आप जानते हैं कि 15 साल की गीतांजलि साइंटिस्ट औह इनोवेटर है। हम आपको इस ब्लॉग में आगे गीतांजलि की उपलब्धियों के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं। 

15 साल की साइंटिस्ट गीतांजलि ने किस चीज का अविष्कार किया? 

  • गीतांजलि ने टेक्नॉलॉजी का भरपूर इस्तेमाल करते हुए ओपियम की लत से और साइबरबुलिंग से लोगों को बाहर निकालने में सक्सेस हासिल किया है। गीतांजलि का नया इनोवेशन एक ऐप किंडली और एक क्रोम एक्सटेंशनहै जो साइबर बुलिंग का पता लगाने के लिए मशीन लर्निंग टेकनोलॉजी का इस्तेमाल करता है।

  • गीतांजलि ने एक ऐसा सेंसर भी बनाया है जो पानी में लेड यानी सीसे की मात्रा का आसानी से पता लगा सकता है।

  • खास बात ये है कि गीतांजलि के इन अविष्कार में महंगे डिवाइस का प्रयोग नहीं किया गया है। मोबाइल की तरह दिखने वाले डिवाइस का नाम ‘टेथिस’ रखा गया है। इस डिवाइस को पानी में सिर्फ कुछ सेकेंड तक रखने के बाद ही ये पता चल जाता है कि पानी में लेड यानी सीसे की मात्रा कितनी है।

  • हाल ही में गीतांजलि को अमेरिका में टॉप यंग साइंटिस्ट सम्मान से भी सम्मानित किया गया है

  • टाइम मैग्जीन ने किड ऑफ द ईयर के लिए नॉमिनेशन मांगे थे और इसके लिए 5 हजार से ज्यादा बच्चों को अंतिम दौर के लिए चुना गया। फिरउसके बाद फाइनली गीतांजलि राव को सफलता मिल पाई।

  • टाइम मैगजीन के लिए गीतांजली का इंटरव्यू हॉलीवुड की सुपरस्टार एंजलीना जोली ने किया। गीतांजली के टैलेंट को देखकर एंजलीना भी हैरान रह गई। एंजलीना ने गीतांजली की तारीफ करते हुए लिखा है कि वीडियो चैट के दौरान भी गीतांजली का तेज दिमाग अन्य युवाओं के लिए प्रेरक संदेश है।

गीतांजलि की ये सफलता इस बात का भी प्रमाण है कि अगर हम पेरेंट्स बच्चे के अंदर की प्रतिभा को महसूस कर लें और उनको उसी दिशा में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें तो हर बच्चा कारामात दिखा सकता है। पुराने ढर्रे पर ना चलते हुए हम सबसे पहले बच्चे के अंदर की प्रतिभा को पहचानने का प्रयास करें। सभी बच्चों के अंदर अद्वितीय प्रतिभा छुपी होती है, आवश्यकता है तो बस इस बात की उसको बाहर कैसे निकालें। कुछ बच्चे पढ़ाई में होशियार हो सकते हैं तो कुछ बच्चे स्पोर्ट्स एक्टिविटीज में, डांस या अन्य कला में भी कुछ बच्चे निपुण हो सकते हैं। बच्चे की हॉबी क्या है उसको समझकर उनको उचित प्रशिक्षण या मार्गदर्शन देंगे तो निश्चित रूप से परिणाम सुखद और सकारात्मक हो सकते हैं। 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप शिक्षण और प्रशिक्षण ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}