• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

क्या हैं बच्चों के दांतों में संक्रमण(Tooth Infection) के लक्षण, बचने के उपाय?

Deepak Pratihast
3 से 7 वर्ष

Deepak Pratihast के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Feb 01, 2020

क्या हैं बच्चों के दांतों में संक्रमणTooth Infection के लक्षण बचने के उपाय
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

दांत हमारे शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह न सिर्फ खाने में हमारी मदद करता है, बल्कि यह हमारी पर्सनैलिटी को भी बेहतर बनाता है। यही वजह है कि लोग दांतों पर खास ध्यान देते हैं। पर ये ध्यान बड़ों तक ही सीमित रह जाता है। बात अगर बच्चों की करें तो कई बच्चे दांतों पर विशेष ध्यान नहीं देते। ऐसे में उन्हें दांत संबंधी कई समस्याएं हो जाती हैं। कई बार तो बच्चे व अभिभावक इन समस्याओं पर भी ध्यान नहीं देते, जिससे उन्हें आगे जाकर काफी दिक्कत होती है। आज हम आपको बताएंगे क्या है दांतों में संक्रमण (इन्फेक्शन) के लक्षण और इससे बचने के उपाय।

दांतों में संक्रमण की मुख्य वजहें क्या है? / Dental abscess: causes In Hindi 

आपने नोट किया होगा कि बच्चे मीठी चीजें अधिक खाना पसंद करते हैं। मीठी चीजों में टॉफी, बिस्किट, चॉकलेट, मिठाई व च्यूइंगम आदि आते हैं। ये चीजें दांतों में चिपक जाती हैं और इससे बच्चे के दांत में इन्फेक्शन होने लगता है। इसके अलावा कैल्शियम, मैग्नीशियम, विटामिन D की कमी के कारण, नियमित ब्रश न करने व अधिक गर्म चीज खाने से भी दांतों में संक्रमण होता है। दांतों में संक्रमण होने की वजह से बच्चे को खाने-पीने में दिक्कत आने लगती है। उसके मसूड़े सूज जाते हैं और उनमें से मवाद निकलने लगता है, जो काफी पीड़ादायक होता है।

 

क्या हैं दांतों में इन्फेक्शन के लक्षण / Dental abscess: Symptoms In Hindi

ये जरूरी नहीं है कि दांतों में संक्रमण के लक्षण बड़ों व बच्चों में एकसमान हो। कई बार ये अलग-अलग भी हो सकते हैं। ऐसे में आपको खुद ध्यान देना चाहिए। आइए जानते हैं बच्चों के दांतों में होने वाले संक्रमण के कुछ लक्षणों के बारे में।
 

  1. मुंह से बदबू आना – दांतों में संक्रमण का यह बहुत बड़ा लक्षण है। अगर आपके बच्चे के मुंह से भी बदबू आ रही है, तो आप मान लीजिए कि उसके दांतों में इन्फेक्शन हो गया है। ऐसी स्थिति में आपको उसके दांतों की सफाई पर खास ध्यान देने की जरूरत है।

  2. दांतों में दर्द – बच्चा अगर लगातार दांतों में दर्द की शिकायत कर रहा है, तो इसका मतलब है कि उसके दांत संक्रमित हो चुके हैं और इसी वजह से उसे दर्द हो रहा है।

  3. खाना खाने, मीठा खाने व पानी पीते वक्त दर्द – कई बार बच्चों को खाना खाने, मीठा खाने व पानी पीते वक्त भी दांतों में दर्द होता है। अगर आपके बच्चे के साथ भी ऐसा हो रहा है तो यह भी संक्रमण के लक्षण हैं।

  4. दांत का भूरा व काला होना – संक्रमण होने पर दांतों का रंग भूरा व काला हो जाता है। आपको इस लक्षण पर भी नजर रखनी चाहिए। ऐसी स्थिति में उसके दांतों की सफाई पर खास ध्यान दें।

  5. मुंह में कड़वाहट – दांतों में संक्रमण होने पर बच्चे के मुंह में हर वक्त कड़वाहट घुली रहती है। उसे कुछ भी खाना अच्छा नहीं लगता है।

  6. बुखार – दांतों में संक्रमण होने पर कई बार बच्चे बुखार की चपेट में भी आ जाते हैं। अगर आपके बच्चे के साथ भी ऐसा है तो डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

  7. भूख न लगना व वजन घटना – दांतों में संक्रमण की वजह से कई केस में बच्चे को भूख नहीं लगती और उसका वजन भी तेजी से घटने लगता है। आपको इस लक्षण पर भी ध्यान देना चाहिए।

  8. दांतों में कैविटीज – इसके अलावा दांतों में कैविटीज, सड़न आदि होना भी संक्रमण के ही लक्षण हैं।

बच्चों को दांतों के संक्रमण से बचाने के उपाय / Dental abscess: treatment In Hindi

अगर आप दांतों में संक्रमण के लक्षण समझ गए हैं, तो इससे अगला कदम है उससे बच्चे को बचाने पर काम करना। यहां हम आपको कुछ ऐसे उपाय बताएंगे जिनके जरिये आप बच्चों के दांतों के संक्रमण को रोक सकते हैं।

  1. ब्रश की आदत डालें – दांतों को सुरक्षित रखने के लिए सबसे पहली और जरूरी चीज है नियमित रूप से अच्छे से ब्रश करना। अपने बच्चे के अंदर नियमित रूप से सुबह-शाम ब्रश करने की आदत डालें। उसे ब्रश करने का तरीका जरूर बताएं।

  2. अधिक मीठा न खाने दें – अपने बच्चे को अधिक मीठे पदार्थ का सेवन न करने दें। दरअसल चीनी एक एसिड का निर्माण करता है, जो दांतों से कैल्शियम को हटाता है और दांतों के इनमेल कोटिंग को नुकसान पहुंचाता है। इससे दांतों में कैविटी बनने लगती है।

  3. कैल्शियम युक्त आहार दें – बच्चे के आहार में कैल्शियम युक्त पदार्थ अधिक मात्रा में शामिल करें। आप इसके लिए बच्चे को दूध व पनीर दे सकते हैं। कैल्शियम से बच्चे के दांत और हड्डियां मजबूत होंगी।

  4. कुल्ला कराएं – बच्चे में शुरू से इस बात की आदत डालें कि वह कुछ भी खाने के बाद कुल्ला जरूर करे। इससे दांतों में फंसी चीजें बाहर निकल जाती हैं और कैविटी का खतरा नहीं रहता।

  5. हींग – आप बच्चे को कुछ देसी नुस्खे अपनाकर भी दांतों के संक्रमण से बचा सकते हैं। इन घरेलू नुस्खों में हींग काफी कारगर है। हींग को थोड़ा सा गर्म कर लें। बच्चे को ब्रश कराने के बाद एक कॉटन के कपड़े की मदद से हींग को उस दांत के पास रखें जहां कीड़े लगे हैं। ऐसा करने से कुछ दिन बाद ही संक्रमण दूर हो जाएगा।

  6. लौंग – दांतों के संक्रमण को दूर करने में लौंग भी काफी उपयोगी हो सकता है। आप रोजाना लौंग के तेल को एक सूती कपड़े में भिगो लें। इसके बाद इसे दांतों के खोखले हिस्से में लगाएं। यह भी काफी राहत देगा।

  7. हल्दी – हल्दी हमें कई बीमारियों से दूर करता है। यह दांतों के लिए भी बहुत उपयोगी है। हल्दी पाउडर में सरसों का तेल मिलाकर इस पेस्ट से बच्चे को रोजाना दिन में 2 बार ब्रश कराएं। ऐसा करने से बच्चे के दांतों का संक्रमण ठीक होगा, कीड़े भी मर जाएंगे।

  8. जायफल – जायफल के तेल को सूती कपड़े में भिगो लें। अब इसे बच्चे के दांतों पर 5-10 मिनट के लिए रखें। कुछ देर बाद गर्म पानी से बच्चे को कुल्ला करा दें। यह अभ्यास नियमित करें। इससे भी दंतों का संक्रमण दूर होगा।

  9. फिटकरी – फिटकरी भी दांतों के संक्रमण को दूर करने में आपकी मदद करेगा। आप फिटकरी को गर्म पानी में घोल लें। इसके बाद इस पानी से बच्चे को कुल्ला कराएं। इस विधि से न सिर्फ इन्फेक्शन दूर होगा, बल्कि बच्चे के मुंह से आने वाली बदबू भी दूर हो जाएगी।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 1
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Dec 26, 2019

seven months k baby ko dry fruits grander kar de

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग

Deepak Pratihast
मॉमबेस्डर
आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट
आज का पैरेंटून
पैरेंटिंग के गुदगुदाने वाले पल

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}