समारोह और त्यौहार

त्योहार में बच्चों से ही होता है उत्साह और उल्लास

Parentune Support
3 से 7 वर्ष

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Oct 17, 2017

त्योहार में बच्चों से ही होता है उत्साह और उल्लास

त्योहारों का मौसम शुरू हो चुका है, बच्चों के संग त्योहार का मजा और बढ़ जाता है, उनके साथ से उत्साह और उल्लास बढ़ जाता है। हम सभी चाहते हैं कि हमारे बच्चे त्योहारों के दौरान व्यस्त रहें और लुत्फ उठाएं। पर आजकल एकल परिवार में त्योहार का उल्लास कहीं खोकर रह गया है। आज त्योहार का मतलब काफी हद तक छुट्टी तक रह गया है। इसलिए जैसे ही त्योहारों का मौसम आता है, माता-पिता मस्ती की बजाय चिंता में डूब जाते हैं। अगर आप भी ऐसा कर रहे हैं, तो इसे तुरंत छोड़ दें। दिवाली आने को हो, ऐसे में इस खास मौके पर अपने बच्चों को इस खुशी के त्योहार से सराबोर करते हुए इसके सही मायने बताएं, ताकि यह त्योहार और रोचक बन सके। हम यहां बता रहे हैं ऐसी ही कुछ बातें, जिन्हें आप अपने बच्चों को समझा सकते हैं।

करेंगे ये तो त्योहार बनेगा और अच्छा

  1. दिवाली के बारे में बताएं : सबसे पहले जरूरी है कि आप अपने बच्चे को हर त्योहार के बारे में बताएं। क्योंकि दिवाली को सबसे बड़ा त्योहार माना जाता है, ऐसे में जरूरी है कि आप बच्चे को इसका महत्व, उन्हें बताएं कि दिवाली क्यों मनाते हैं, इससे जुड़ी कहानियां बताएं, ताकि वह इस उल्लास को महसूस कर सकें। इसके बारे में विस्तार से बताएं।

  2. सामाजिक मेल-मिलाप : बच्चों में मेल-मिलाप की भावना जीवित रखने के लिए दिवाली सबसे बेहतर त्योहार हो सकता है। आप भी अपने बच्चे को इसके बारे में बताएं। उन्हें दिवाली पर पड़ोसी, रिश्तेदार व दोस्तों के यहां अपने साथ जरूर ले जाएं, ताकि वह भी ये सब सीखें। वैसे भी बच्चों को घर से बाहर जाने में खुशी ही मिलती है।

  3. घर को सजाना : दिवाली पर घर को सजाने का महत्व भी बताएं। दिवाली पर कई तरह की खूबसूरत लड़ियां मिलती हैं। उन्हें खरीदकर लाएं और बच्चों को उन्हें अलग-अलग स्टाइल में सजाने को कहें। इसके अलावा उन्हें रंगोली बनाने को दें, मिट्टी के बर्तन को सजाने को दें। इन सबको करते हुए बच्चा न सिर्फ उत्साहित होगा, बल्कि उसमें क्रिएटिविटी भी आएगी।

  4. घर की सफाई : दिवाली पर जब आप अपने घर की सफाई में जुटें, तो इसमें बच्चे की भी मदद लें, लेकिन ध्यान रखे ये मदद उसे सफाई का महत्व सिखाने व उत्साहित करने के लिए है। आप उस पर उतना बोझ न डाल दें, जो वह उठा न पाए। जब वह आपके साथ मिलकर घर की सफाई करेगा, तो खुद को बहुत खुश महसूस करेगा।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}