• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

वैक्सीनेशन कार्ड यानि आपके बच्चे के स्वास्थ्य का पासपोर्ट

Dr Rakesh Tiwari
0 से 1 वर्ष

Dr Rakesh Tiwari के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Aug 10, 2020

वैक्सीनेशन कार्ड यानि आपके बच्चे के स्वास्थ्य का पासपोर्ट
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

नन्हे मुन्ने मेहमान के आगमन के बाद परिवार के सदस्यगण और करीबी दोस्तों के द्वारा मां और शिशु को कुछ गिफ्ट देने का अपने देश में रिवाज है। जिस अस्पताल में बच्चे का जन्म होता है वहां से भी एक खास तोहफा भेंट किया जाता है, क्या आप जानना चाहेंगे कि वो गिफ्ट क्या है? बच्चे के स्वास्थ्य और विकास के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक है वैक्सीनेश कार्ड। शिशु के जन्म लेने के बाद सभी अस्पतालों की तरफ से वैक्सीनेशन कार्ड जरूर दिया जाता है।इस ब्लॉग में मैं आज आपको वैक्सीनेशन कार्ड के महत्व के बारे में विस्तार से बताने जा रहा हूँ।

क्यों जरूरी है वैक्सीनेशन कार्ड?

बच्चे के जन्म लेने के साथ ही समय-समय पर टीकाकरण करवाना अनिवार्य है लेकिन ये मुमकिन नहीं कि आप प्रत्येक टीकाकरण के समय को याद रख सकें। इसलिए खास तौर पर वैक्सीनेशन कार्ड दिया जाता है जिसमें प्रत्येक टीके को कब और कितनी बार दिलाना है यह मेंशन रहता है।

  • वैक्सीनेशन कार्ड उपयोगी रिकॉर्ड है जिसमें वैक्सीनेशन की डेट और खुराक का विवरण उपलब्ध रहता है। ये जानकारी पैरेंट्स, डॉक्टर, हॉस्पीटल, वैक्सीनेशन से संबंधित शोध करने वालों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।
     
  • आसान भाषा में ऐसे समझिए कि जैसे हम अपने आधार कार्ड, वोटर आईकार्ड या पासपोर्ट जैसे महत्वपूर्ण दस्तावेजों को संभाल कर रखते हैं क्योंकि इन डॉक्यूमेंट्स के बगैर हम कई मूलभूत आवश्यकताओं से भी वंचित रह सकते हैं ठीक इसी तरह से शिशु के स्वास्थ्य और आने वाले कल को बेहतर बनाने के लिए वैक्सीनेशन कार्ड का योगदान है। शिशु की स्वास्थ्य के लिए ये बहुत आवश्यक है कि हम उनको सही समय पर वैक्सीनेशन करवाते रहें।
     
  • आप अपने घर के राशन के सामान को खरीदने से पहले भी एक लिस्ट बनाते हैं ताकि कोई जरूरत का सामान आपसे छूट ना जाए, रोजमर्रा की जिंदगी में भी हम अपनी प्राथमिकताओं के हिसाब से एक लिस्ट तैयार करते हैं ताकि हमसे किसी प्रकार की भूल ना हो जाए। ठीक उसी प्रकार से वैक्सीनेशन कार्ड बच्चे के टीकाकरण की तारीख और खुराक से संबंधित वो रिकॉर्ड है जो आपको याद दिलाता रहता है कि कब कौन सा टीका दिलवाने का समय समीप आ गया है।
     
  •  वैक्सीनेशन कार्ड की मदद से सरकार और स्वास्थ्य विभाग के पास भी ये डेटा उपलब्ध हो जाता है कि कितने बच्चों को कौन-कौन सी वैक्सीनेशन दी जा चुकी है। आमतौर पर पैरेंट्स के पास ही ये कार्ड मौजूद होता है, लेकिन आप इस बात को जान लें कि आपके लिए ये कार्ड इस बात का भी प्रमाण है कि आपके बच्चे का समय पर टीकाकरण हो रहा है।
     
  • स्वास्थ्य कर्मचारियों व टीकाकरण पर रिसर्च करने वालों के लिए भी वैक्सीनेशन कार्ड महत्वपूर्ण है। इनके पास किसी खास क्षेत्र में टीकाकरण के संदर्भ में जितनी ज्यादा जानकारियां होंगी वे उस टीका विशेष के प्रभाव के संदर्भ में उतना बेहतर निष्कर्ष निकाल सकेंगे। एक और महत्वपूर्ण बात कि उस क्षेत्र विशेष में मांग के हिसाब से वैक्सीन की कमी ना हो इसके लिए भी उनके पास आंकड़े उपलब्ध रहेंगे।
     
  •  ग्रामीण इलाकों व सुदूर क्षेत्रों की बात करें तो कई बार स्वास्थ्य कर्मी भी घरों में विजिट करते हैं ताकि किसी बच्चे का वैक्सीनेशन मिस ना हो जाए। ऐसे समय में कार्ड में उपलब्ध रिकॉर्ड को देख कर वे आसानी से पता कर लेते हैं कि बच्चे को कौन-कौन से वैक्सीन की कितनी खुराक दी जा चुकी है।
     
  • अपने देश में चलाया जा रहा यूनिवर्सल टीकाकरण प्रोग्राम के तहत प्रत्येक साल 3 करोड़ से ज्यादा गर्भवती महिलाओं व 2.67 करोड़ नवजात शिशुओं को स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध करने का लक्ष्य तय किया गया है। इतना बड़ा लक्ष्य तभी मुमकिन है जब एक-एक महिला व बच्चे का रिकॉर्ड मेंटेन रह सके और ये काम बगैर वैक्सीनेशन कार्ड के मुमकिन नहीं है।

शिशु टीकाकरण चार्ट

उम्मीद करता हूं कि आप वैक्सीनेशन कार्ड के महत्व के बारे में अच्छे से जान गए होंगे और अपने बच्चे के स्वास्थ्य का भरपूर ख्याल रखते हुए समय पर टीकाकरण जरूर करवाते रहेंगे।

Disclaimer: Information appearing in this material is for general awareness only. Nothing contained in this material constitutes medical advice. Please consult your physician for medical queries, if any, or any question or concern you may have regarding your condition.

Issued in public interest by GlaxoSmithKline Pharmaceuticals Limited. Dr. Annie Besant Road, Worli, Mumbai 400 030, India.

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

: https://www.cdc.gov/vaccines/schedules/index.html ;

https://www.indianpediatrics.net/dec2018/1066.pdf

 

  • कमेंट
+ ब्लॉग लिखें
Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}