• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
गर्भावस्था

गर्भवती महिलाओं को रेलवे की तरफ से भी दी जाती हैं कई सुविधाएं

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Dec 30, 2019

गर्भवती महिलाओं को रेलवे की तरफ से भी दी जाती हैं कई सुविधाएं
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

सरकार की तरफ से कई योजनाएं लागू की जाती हैं लेकिन जानकारी के अभाव में हम इसका लाभ नहीं उठा पाते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं की रेलवे की तरफ से गर्भवती महिलाओं एवं सामान्य महिलाओं के लिए किस तरह की सुविधाएं दी जाती हैं। ये जानकारी आपके लिए बेहद खास है क्योंकि अगर आप रेल से यात्रा करने का प्लान बना रही हैं तो फिर इन सुविधाओं का जरूर फायदा उठाएं।

रेलवे की तरफ से महिलाओं के लिए विशेष सुविधाएं/ Special Facilities For Women From Railway Side In Hindi

  1. लोअर बर्थ कोटा : ट्रेन में सफर करने के दौरान कई बार हम सबको कुछ तीखे अनुभवों का सामना करना पड़ जाता है। अगर लोअर बर्थ ना हो तो साथ चल रहे पैसेंजर से लोग रिक्वेस्ट करते हैं अब ये उस पैसेंजर के ऊपर निर्भर करता है कि वो लोअर बर्थ आपको दे या नहीं दे लेकिन अब रेलवे के नए नियमों के मुताबिक सभी मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों में गर्भवती महिलाओं, 45 साल से ऊपर की महिलाओं और वरिष्ठ नागरिकों के लिए लोअर सीट का कोटा आरक्षित कर दिया गया है। स्लीपर क्लास की प्रत्येक बोगी में 6 लोअर बर्थ, थर्ड एसी और सेकेंड एसी में 3 लोअर बर्थ खास इसी कैटेगरी को आवंटित किया जाएगा। एक और अहम जानकारी की राजधानी, दुरंतो और पूरी तरह से एसी ट्रेन के सभी डब्बों में ये कोटा 3 लोअर बर्थ के स्थान पर 4 लोअर सीट आरक्षित किए गए हैं।
  2. अलग से महिला कोटा का भी किया गया है प्रावधान : कुछ ट्रेन ऐसे भी हैं जिनमें अलग से महिला कोटा का प्रावधान किया गया है। गर्भवती महिलाएं इस सुविधा का भी लाभ उठा सकती हैं। गरीब रथ जैसे ट्रेन में जिनके सभी कोच थर्ड एसी होते हैं इस ट्रेन की सभी बोगियों में 6 सीट  महिला कोटे के तहत आवंटित किए जाते हैं। इस कोटे का उपयोग केवल महिलाएं ही कर सकती हैं और इसमें आयु को लेकर कोई बंधन नहीं है।
  3. वेटिंग टिकट के कन्फर्मेशन में भी मिल सकता है लाभ- प्रथम रिजर्वेशन चार्ट बनने तक इसमें पहले अकेले या फिर महिलाओं के ग्रुप को प्राथमिकता दी जाएगी लेकिन इसके बाद भी अगर इस कोटे के तहत सीट बच जाता है तो अन्य महिलाओं को ही इसमें प्राथमिकता दी जाएगी। लंबी दूरी की एक्सप्रेस ट्रेनों में महिलाओं के लिए अलग से अनारक्षित बोगी भी होता है और ये बोगी गार्ड के केबिन के पास होता है।ट्रेन में सफर करने के दौरान अगर किसी तरह की असुविधा का सामना करना पड़ रहा है तो आप फौरन इसके संबंध में टीटीई को शिकायत दर्ज करवाएं।     

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 1
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Jun 26, 2018

good blog

  • Reply
  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें

टॉप गर्भावस्था ब्लॉग

Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}