पेरेंटिंग स्पेशल नीड्स

बाढ़ जैसी आपदा के दौरान अपनी और बच्चे की सुरक्षा ऐसे करें

Prasoon Pankaj
3 से 7 वर्ष

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Aug 16, 2018

बाढ़ जैसी आपदा के दौरान अपनी और बच्चे की सुरक्षा ऐसे करें

देश के अलग-अलग हिस्सो में लगातार हो रही बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त सा हो गया है। बारिश की वजह से कई राज्यों में बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं। मौसम विभाग ने आने वाले दिनों के लिए भी चेतावनी जारी की है। केरल, उत्तराखंड, बिहार एवं अन्य कई राज्यों में भी नदियां उफान पर है। केरल केरल जहाँ अब तक ७९ लोगो की मौत हो चुकी है, में बाढ़ के हालात को देखते हुए मौके पर एनडीआरएफ की टीम को रवाना कर दिया गया है। 

बाढ़ के दौरान सबसे ज्यादा परेशानियों का सामना गर्भवती महिलाओं और छोटे बच्चे को होती है। इस ब्लॉग में आज हम बताने जा रहे हैं कि बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदा के दौरान आप खुद का और अपने बच्चो का कैसे ख्याल रख सकते हैं।  

बाढ़ अपने साथ कई मुसीबतों को साथ लाती है  तो ज़रूरत इस बात की है कि हम पहले से ही चौकन्ना रहे। बाढ़ के खतरे को भांपते हुए अगर हम पहले से कुछ जरूरी इंतजाम कर लें तो ये आपके पूरे परिवार की सुरक्षा के लिहाज से अच्छा रहेगा। Parentune suggests बाढ़ आने की स्थिति में क्या करें और क्या बिल्कुल नहीं करे इसको जानना बहुत जरूरी है। 

बाढ़ के दौरान माता-पिता इन बातों का जरूर रखें ख्याल / What Precautions to Be Taken During Floods in Hindi

बाढ़ को प्राकृतिक आपदा के तौर पर माना जाता है और आपदा कभी बता कर नहीं आती है। इसलिए जरूरत इस बात की है कि हम पहले से ही सतर्क रहें और किसी भी संभावित खतरे से निपटने के लिए तैयार रहें। 

  • सबसे ज्यादा अहम है  की आप अपना धीरज ना खोएं और अपने बच्चे और परिवार को ये भरोसा दिलाएं कि सब अच्छा हो जाएगा। 
     
  • कभी भी बाढ़ के पानी या पानी की तेज धारा में चलने का प्रयास ना करें, खासकर के अपने बच्चे के साथ तो बिल्कुल भी नहीं क्योंकि पानी की धारा का अंदाजा नहीं लग पाता है और ये खतरनाक साबित हो सकता है। बाढ़ के समय में अक्सर लोग इस तरह की गलतियां कर जाते हैं तो आप जरूर इससे बचें।
     
  • अगर आपको पानी में चलना ही है तो स्थिर पानी में चलें लेकिन छोटे बच्चे को पानी में ना चलने दें 
     
  • एक बात जिसका आपको सबसे ज्यादा ख्याल रखना होगा कि आपका बच्चा बिजली से संचालित होने वाले तमाम इक्विपमेंट्स से दूर रहे क्योंकि इस समय में बारिश के पानी की वजह से झटका लगने का खतरा होता है
     
  • अगर लगातार तेज बारिश हो रही है और बिल्डिंग या बिल्डिंग के बाहर पानी जमा हो चुका है तो बिजली के मेन स्वीच को बंद कर देना ही अच्छा होगा
     
  • अगर सड़कों पर बाढ़ का पानी जमा है तो कार या अन्य किसी वाहन में बच्चे को साथ लेकर नहीं जाए क्योंकि 2 फीट गहरे पानी में भी कार बंद हो सकती है।
     
  • बाढ़ के समय में भूलकर भी बच्चे को बाढ़ के पानी में खेलने के लिए नहीं जाने दें। कई बार कौतुहलवश बच्चे बाढ़ के पानी में जाने की जिद कर सकते हैं लेकिन ये इसलिए भी खतरनाक है क्योंकि इस पानी में कई तरह के केमिकल मिले होते हैं और ये पानी कई जगहों से होकर आता है। ये पानी आपके बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है

 

इमरजेंसी किट में ये सामान होने चाहिए /What Should Be in Emergency Kit in Hindi

अगर आप बाढ़ प्रभावित इलाके में रह रहे हैं तो अपने परिवार और बच्चे की सुरक्षा के लिए आपको इमरजेंसी किट तैयार करके रखना चाहिए।

  • बैट्री से चलने वाला टोर्च 
     
  • टोर्च  के लिए अतिरिक्त बैटरी
     
  • फर्स्ट एड किट में जरूरी दवाएं
     
  • आपातकालीन परिस्थिति से निपटने के लिए ड्राई फूड आइटम्स जो कि अच्छे से पैक होना चाहिए (जैसे कि ड्राई फ्रूट्स, चूड़ा, बिस्किट, एवं अन्य आइटम्स)
     
  • माचिस और मोमबत्ती
     
  • जरूरी दस्तावेज जैसे आधार कार्ड, वोटर कार्ड एवं कुछ कैश 
     
  • मोटी रस्सी
     
  • मजबूत जूते
     
  • बच्चे के लिए हल्के कपड़े
      
  • सीटी  

 National Disaster Management Authority के द्वारा भी बाढ़ के दौरान सावधानी बरतने के निर्देश जारी किए गए हैं। इन बातों का भी जरूर ध्यान रखें

NDMA यानि नेशनल डिजैस्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के इन निर्देशों का जरूर पालन करें। बाढ़ जैसी आपदा के दौरान सुनी सुनाई बातों या अफवाहों पर बिल्कुल ध्यान ना दें। खुद का और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए एनडीएमए की तरफ से जारी किए गए ये निर्देश आपके लिए बहुत कारगर साबित हो सकते हैं। 

  • प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्थल और सहायता के अन्य स्थलों की जानकारी रखें
     
  • रेडियो और टीवी पर समाचार सुनने से आपदा के प्रभाव का सही अनुमान लग जाता है
     
  • बच्चों को  बाढ़ के पानी से दूर रखें क्योंकि इस पानी में ऐसे जानलेवा कीटाणु होते हैं जो बीमारियों का कारण बनते हैं।  
     
  • बाढ़ के दौरान सरकारी या गैर सरकारी संगठन के संपर्क में रहने से जान-माल के नुक्सान को कम किया जा सकता है। 
     
  • पीने और खाना पकाने के लिए साफ पानी का ही प्रयोग करें। स्थानीय जल में क्लोरीन की गोलियां डालें।  
     
  • जरूरी वस्तुओं और खाने की चीजों को सुरक्षित स्थानों पर रखें

मैं उम्मीद करता हूँ की आप में से हर कोई सुरक्षित रहें और कभी आप पर कोई विपदा ना आये , पर अगर कभी भी ज़रूरत पड़े, तो ये ब्लॉग आप के लिए संजीवनी की तरह काम करे. अपना और अपने परिवार का ध्यान रखिये 

 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}