पेरेंटिंग गर्भावस्था

जानिए सिजेरियन डिलीवरी के बाद माँ को क्या खाना चाहिए

Sadhna Jaiswal
गर्भावस्था

Sadhna Jaiswal के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Aug 23, 2018

जानिए सिजेरियन डिलीवरी के बाद माँ को क्या खाना चाहिए

सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिला को अपने खान-पान पर विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होती है। नार्मल डिलीवरी में महिला चालीस दिनों के बाद रिकवर हो जाती है, पर सिजेरियन डिलीवरी में छ: महीनो का टाइम लग जाता है। नार्मल डिलीवरी के विपरीत सिजेरियन डिलीवरी महिला के शरीर पर बहुत बुरा प्रभाव डालती है। कोई भी महिला जिसकी सिजेरियन डिलीवरी हुई है उसको एक्स्ट्रा केयर की जरुरत होती है।  क्योकि एक तो वैसे ही एक सर्जरी है, जिससे वो रिकवर कर रही है और उसके साथ ही एक बच्चा जो इस दुनिया में नया आया है जो टोटली महिला पे निर्भर है। महिला को अपने बच्चे को भी फीड कराना है, इसीलिए महिला को ऐसे आहार खाने चाहिए जो उसे शारीरिक शक्ति प्रदान करे और बच्चे को स्तनपान कराने के लिए अवश्यक मात्रा में दूध के उत्पादन में सहायक भी हो। तो आइये जानते है की सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिला को अपने आहार में क्या शामिल करना चाहिए। 

 सिजेरियन डिलीवरी के बाद माँ को क्या खाना चाहिए / What kind of diet should Mother take after cesarean delivery in Hindi

  • दूध तथा दूध से बने उत्पाद: सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिला के लिए  दूध तथा दूध से बने उत्पादों का सेवन जैसे दूध, छाछ, पनीर, दही आदि बहुत ही लाभदायक होता है। दूध कैल्सियम का सबसे अच्छा स्रोत है, इसमें फास्फोरस, विटामिन बी, मेगनिसियम, और जिंक उच्च मात्रा में पाए जाते है। और दही तो विशेष रूप से  महिला के लिए बहुत फायदेमंद है। क्योकि ये पेट में गैस नहीं बनने देती है।  
  • दालें और फलिया: दालो से मिलता है अतिरिक्त पोषण। डिलीवरी के बाद माँ को अपने बच्चे को स्तनपान भी करना होता है, इसलिए उसे अधिक पोषण की आवश्यकता होती है। महिला अपने भोजन में अरहर की दाल, मसूर की दाल, मटर, सेम की फलिया चने(छोले), सोयाबीन और मूंगफली आदि  जरुर शामिल करें। दालो में प्रोटीन फाइबर आयरन फोलेट (बी 9) और कैल्सियम बहुत अधिक मात्रा में मिलता है। 
  • अन्डो का सेवन: सिजेरियन डिलीवरी के बाद अन्डो का सेवन लाभदायक है। अन्डो से जख्म जल्दी भरने में मदद मिलती है।  एक अंडे में 77 कलोरी होती है,  साथ ही साथ उच्च गुडवत्ता वाला प्रोटीन और वसा भी मौजूद होता है। और इसमें कई विटामिन और खनिज पाए जाते है। लेकिन रोज एक से ज्यादा अंडा ना खाया जाये और अंडा उबला हुआ होना चाहिए क्योकि ये गैस भी बना सकता है  
  • हरी सब्जिया: ब्रोकली और हरी पत्तेदार सब्जियो का इस्तेमाल भी ज्यादा से ज्यादा करें।  ब्रोकली, हरी  सब्जिया जैसे पालक, लौकी, तोरी, बीन्स में कई पोषक तत्व होते है। जो स्तनपान कराने वाली  महिला के लिए जरुरी है। इसमें फाइबर, विटामिन सी, के, ए, कैल्शियम, आयरन, फोलेट, पोटेशियम प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होता है। ये सब्जिया कब्ज को रोकने में भी मदद करती है। 
  • साबुत अनाज: साबुत अनाज महिला के लिए बहुत जरुरी है। साबुत अनाजो का सेवन सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिला में आवश्यक कैलोरी की मात्रा को पूरा करने में मदद करता है। साबुत अनाजो में फाइबर, विटामिन्स भरपूर मात्रा में होता है। ओट्स और किनोवा में प्रोटीन उच्च मात्रा में होता है।   
  • सूखे मेवे और ताजे फल: सिजेरियन डिलीवरी के बाद महिला के लिए सूखे मेवे और ताजे फल जैसे सेब, केला, अनार, बहुत ही फायदेमंद होता है। सूखे मेवे आमतौर पर कैलोरी, फाइबर और विभिन्न विटामिन्स और खनिजो से समृद्ध होते है। सूखे मेवे में काजू, किसमिस, बादाम, सूखे बेर, और खजूर में फाइबर, पोटेशियम, आयरन, अधिक मात्रा में पाए जाते है। ताजे फलों और सूखे मेवों में प्राकृतिक शुगर भी उचित मात्रा में पाई जाती है। साथ ही ये केलोरी और पोषक तत्वों से भी भरपूर है। 
  • अजवाईन वाला गुनगुना पानी पिए: एक लीटर पानी में एक चम्मच अजवाईन और दो इलाइची डाल कर पानी को एक उबाल आने दे और फिर यही पानी पिए। कोशिश करें की नार्मल पानी की जगह यही पानी पिए। ये पानी पीने से सिजेरियन डिलीवरी के बाद जो पेट बाहर आता है वो नहीं आएगा और आप जो भी खायेंगी वो आसानी से पच जायेगा। और गैस भी नहीं बनने देगा। फ्रिज का ठंडा पानी भूल कर भी ना पिए।   

सिजेरियन डिलीवरी के बाद माँ को ऐसा आहार खाना चाहिए जो उसे आसानी से पच जाये और शक्ति प्रदान करें और बच्चे को स्तनपान कराने के लिए दूध के उत्पादन में सहायता प्रदान करे। कुछ भी ऑयली बिलकुल ना खाए।  क्योकि गैस बनने पर टांको में दर्द बढ़ सकता है। आराम करें अपना ख्याल रखें।  
 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 1
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Aug 15, 2018

Thanks

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
टॉप पेरेंटिंग ब्लॉग
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}