• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
समारोह और त्यौहार

नवरात्रि के व्रत के दौरान क्या करें और क्या नहीं करें?

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Oct 08, 2021

नवरात्रि के व्रत के दौरान क्या करें और क्या नहीं करें
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

शारदीय नवरात्रि का अत्यधिक महत्व है। नवरात्रि के इन 9 दिनों में घर-घर में मां दुर्गा की पूजा-अर्चना पूरी आस्था व श्रद्धा के संग की जाती है। अधिकांश घरों में नवरात्रि के दिनों में व्रत रखने की परंपरा है। नवरात्रि के इन दिनों में हम सबकी दिनचर्या में काफी बदलाव आ जाता है। नवरात्रि के दौरान व्रत रखने या भोजन को लेकर नियम निष्ठा रखने के वैज्ञानिक पहलू भी हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक नवरात्रि के दिनों में हम जिस तरह के नियमों का पालन करते हैं उससे हमारा पूरा शरीर डिटॉक्स हो जाता है क्योंकि इस समय में हम लोग पूर्ण शुद्ध व सात्विक आहार का ही सेवन करते हैं। नवरात्रि के दौरान आपको किस तरह के खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए और किन चीजों से आपको परहेज करने की आवश्यकता है (Dos and don'ts during Navratri fast?) उसके बारे में ही इस ब्लॉग में हम आपको विस्तार से बताने जा रहे हैं। 

इस Workshop को जरूर देख लें- न्यूट्रीशन एक्सपर्ट से जान लें कि नवरात्रि में क्या खाएं और क्या नहीं?

नवरात्रि के दौरान किस तरह के फूड आइटम्स का सेवन कर सकते हैं?

नवरात्रि के दौरान आपको कुछ खास प्रकार के फूड आइटम्स का सेवन करना चाहिए और ये आपके शरीर को पूर्ण पोषण भी प्रदान करेंगे। 

  1. सबसे पहले बात आटा और अनाज की- दिन भर के व्रत के बाद आप जब रात को भोजन करते हैं तो इस बात का जरूर ध्यान रखते होंगे कि आप जो भी खाएं वो शुद्ध और सात्विक हो। आटा और अनाज के रूप में आप अरारोट का आटा, साबूदाना, साबूदाना का आटा, कुट्टू का आटा, राजगीरा का आटा, सिंघाड़े का आटा, समा चावल का सेवन कर सकते हैं।

  2. नवरात्रि के दौरान फलों में आप हर प्रकार के मौसमी फल का सेवन कर सकते हैं। बस इस बात का ध्यान जरूर रखें कि अगर किसी फल से आपको एलर्जी की समस्या होती है तो उसका सेवन ना करें। 

  3. सब्जी के तौर पर आप लौकी, कद्दू, आलू, अरबी, शकरकंद, खीरा, गाजर, कच्चा केला, टमाटर इत्यादि का प्रयोग कर सकते हैं।

  4. इसके अलावा डेयरी प्रोडक्ट्स में आप दूध, दही, पनीर, मक्खन, घी का सेवन कर सकते हैं।

  5. सिंघारे का आटा- पूजा पाठ और व्रत के दौरान सिंघारे के आटा को शुद्ध माना जाता है। चूंकि नवरात्रि के दौरान 9 दिन का व्रत होता है तो आप कभी सिंघाड़े के आटा की पूरियां तो कभी हलवा बनाकर भी खा सकती हैं। 

  6.  कुट्टू का आटा नवरात्रि के दिनों में अत्यधिक लोकप्रिय है। कुट्टू के आटे की पूरी, हलवा या इसकी खिचड़ी का स्वाद भी आपको अच्छा लग सकता है। कुट्टू के आटे का एक जो सबसे बड़ा फायदा होता है वो ये है कि इसका सेवन करने से आपको भूख का एहसास कम हो जाता है।

  7. साबूदाना- साबूदाना सुपाच्य और पौष्टिकता के गुणों से भरपूर है। साबूदाना की खिचड़ी आप दही के साथ भई सेवन कर सकते हैं। 

  8. आलू- सबसे सरल और सहज तरीके से उपलब्ध होने वाले सब्जियों में से एक है आलू। आलू की सब्जी खाते-खाते अगर आप बोर हो चुके हैं तो आलू की चाट बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है।

  9. शकरकंद- कई औषधीय गुणों से भरपूर शकरकंद भी एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है नवरात्रि के दौरान। शकरकंद को उबालकर दूध के साथ मिलाकर खाने में आप ट्राई कर सकते हैं। शकरकंद का सेवन करने के बाद आपको बहुत देर तक भूख का एहसास भी नहीं होगा।

  10. नवरात्रि के व्रत में आपको इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि शरीर में पानी की कमी ना हो तो इसलिए ज्यादा से ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करते रहें। पानी के अलावा आप कुछ ड्रिंक्स जैसे कि दूध या ग्रीन टी का सेवन करते रहें। आप चाहें तो दूध के साथ बादाम का सेवन कर सकती हैं, ये आपके शरीर के अंदर ऊर्जा प्रदान करने वाला और दिन भर आपको तरोताजा रख सकता है। व्रत के दौरान खाली पेट में चाय-कॉफी की बजाय अगर ग्रीन टी पीएं तो ज्यादा बेहतर।

नवरात्रि के दौरान क्या नहीं करें?

नवरात्रि के दौरान आपको कुछ चीजों को करने से परहेज भी रखना चाहिए और खास तौर से अपने खान-पान में कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। 

  • चूंकि नवरात्रि के दिनों में आप बहुत देर तक खाली पेट रहती हैं तो इस दौरान आपको चाय-कॉफी ज्यादा मात्रा में सेवन करने से बचना चाहिए।

  • नवरात्रि के दिनों में लोग सादा नमक का सेवन करने से भी बचते हैं

  • प्याज लहसुन से बनी चीजों का सेवन करने से भी परहेज रखते हैं।

  • नवरात्रि के दिनों में मदिरा और मादक पदार्थों का सेवन करने से भी लोग बचते हैं।

  • व्रत के दौरान ज्यादा तला भुना खाना खाने से बचना चाहिए और इसकी बजाय प्रोटीन, फैन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिंस औऱ मिनरल्स के साथ अन्य जरूरी पोषक तत्वों का सेवन करना चाहिए।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप समारोह और त्यौहार ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}