• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

अपने देश में कब पीक पर हो सकता है Omicron का खतरा? जानिए क्या कह रहे हैं एक्सपर्ट

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Dec 06, 2021

अपने देश में कब पीक पर हो सकता है Omicron का खतरा जानिए क्या कह रहे हैं एक्सपर्ट
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के मामले अपने देश के कई राज्यों में देखने को मिल रहे हैं। एक्सपर्ट्स की माने तो ओमिक्रोन का ट्रांसमिशन रेट डेल्टा वेरिएंट से तीन गुना ज्यादा है, आप इसको आसान शब्दों में ऐसे समझें की ओमिक्रोन वायरस तीन गुना तेजी से लोगों को संक्रमित कर सकता है। कोरोना की पहली और दूसरी लहर के प्रभाव को देखते हुए अब आपके मन में ये सवाल भी आ रहे होंगे कि क्या ओमिक्रोन का खतरा किस समय में पीक पर रहने वाला है और ओमिक्रोन का प्रभाव किस समय तक जाकर कम हो सकेगा। मेदांता हॉस्पीटल के चेयरमैन डॉक्टर नरेश त्रेहन ने इस संदर्भ में विस्तार से जानकारी दी है।

ओमिक्रोन के प्रभाव पर क्या कहना है डॉ नरेश त्रेहन का? 

डॉ नरेश त्रेहन ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि हमें पहली व दूसरी लहर से सबक सीखने की आवश्यकता है। पहली और दूसरी लहर के बीच में तकरीबन 32 सप्ताह का फासला था। पहली लहर के प्रभाव के कम होने के साथ ही कई लोगों ने ये मान लिया कि अब कोरोना का खतरा पूरी तरह से टल चुका है लेकिन ऐसा सोचना भयंकर भूल साबित हुई। डॉ नरेश त्रेहन का कहना है कि दूसरी लहर में कोरोना और खतरनाक रूप में सामने आया। इसलिए जब तक वायरस का खतरा पूरी तरह से टल नहीं जाता है तब तक हम सबको सावधान और चौकन्ना रहने की आवश्यकता है। 

इस ब्लॉग को जरूर पढ़ लें:- Omicron वायरस के क्या हैं लक्षण और कौन सी सावधानियां जरूरी?

  • डॉ नरेश त्रेहन ने संभावनाएं जताई है कि कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रोन जनवरी के पहले या दूसरे सप्ताह में पीक पर हो सकता है। हालांकि इसके साथ ही उन्होंने इस बात की भी संभावनाएं जताई है कि फरवरी तक इस लहर के समाप्त होने के भी आसार हैं। डॉ त्रेहन का कहना है कि कोविड के लहर को कमजोर करने के लिए हमारा व्यवहार बहुत हद तक जिम्मेवार है। 

  •  ओमिक्रोन वेरिएंट को क्या तीसरी लहर मान लिया जाए इस सवाल का जवाब देते हुए डॉ त्रेहन ने कहा है कि मौजूदा हालात को देखते हुए इसको तीसरी लहर घोषित करना उचित नहीं। डॉ त्रेहन ने कहा है कि अभी लॉकडाउन समस्या का समाधान नहीं लेकिन लोगों को सजग और सचेत रहने की जरूर आवश्यकता है। डॉ नरेश त्रेहन ने सुझाव दिया है कि भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचें। हैंड सैनिटाइजेशन का खास ख्याल रखें। घर से मास्क पहनकर ही बाहर निकलें। नाइट क्लब जैसी जगहों पर जाने से बचें।

  • डॉ त्रेहन ने कहा है कि ओमिक्रोन वैरिएंट से संक्रमित व्यक्ति 18 से 20 लोगों को कोरोना पॉजिटिव बना सकता है। हालांकि इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि ज्यादा पैनिक होने की आवश्यकता नहीं है और सरकार हर संभव उचित कदम उठा रही है।  यहां क्लिक करने पर आपको मिल सकती है कोरोना से संबंधित तमाम जरूरी जानकारियां एक साथ

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}