पेरेंटिंग

इस यूथ डे बच्चों में जगाएं देश प्रेम की भावना

Parentune Support
1 से 3 वर्ष

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jan 12, 2018

इस यूथ डे बच्चों में जगाएं देश प्रेम की भावना

बच्चे देश का भविष्य होते हैं। देश की तरक्की बच्चों पर ही टिकी होती है, पर ये सब निर्भर इस बात पर करता है कि आखिर उन्हें कैसे परवरिश मिली है। उनमें देश के प्रति प्यार, देश को लेकर उनके दायित्वों को जगाना बहुत जरूरी है। अगर बच्चे में देश प्रेम व देश के प्रति दायित्वों का बोध होगा, तभी वह बड़ा होकर अपने देश के लिए कुछ करेगा। अगर आप भी पैरेंट्स हैं, तो जरूरी है कि अपने बच्चे में देश प्रेम की भावना जगाएं। यहां हम बता रहे हैं कि कैसे बच्चों में देश प्रेम की भावना जगाएं।
 

ऐसे पढ़ाएं देश प्रेम का पाठ
 

  1. सबसे पहले बच्चों में देश के प्रति उनकी जिम्मेदारियों का बोध कराएं। उन्हें सिखाएं कि हमारा अस्तित्व तभी तक सुरक्षित है, जब तक देश की सीमा सुरक्षित है। सीमा की सुरक्षा के लिए हमें हमेशा तैयार रहना चाहिए। उन्हें ये भी बताएं कि किस तरह सेना के जवान विपरित परिस्थितियों में भी बॉर्डर पर जमे रहते हैं और अपनी जान पर खेलकर पूरे देश को सुरक्षित रखते हैं। इससे उसके अंदर भी देश प्रेम जागेगा।
     
  2. भारत भौगोलिक स्तर से लेकर, भाषाई, सांस्कृतिक और धार्मिक आधार पर बंटा हुआ है, लेकिन इन सबके बावजूद पूरा देश एक है। यही इस देश की संस्कृति की खासियत है। आप अपने बच्चे को भी बताएं कि वह धर्म, राज्य, भाषा, संस्कृति, जात-पात व लिंग के आधार पर किसी से भेदभाव न करे। सबसे मिलकर रहे। बच्चे जब शुरू से ये बात सीखेंगे तो आगे जाकर भी इस पर अमल करेंगे और भारत की एकता इसी तरह बनी रहेगी।
     
  3. बच्चों को गैर बराबरी, अन्याय व भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ना बचपन से ही सिखाएं। उसे बताएं कि अगर वह इन सबसे लड़ेगा तो बड़ा होकर उसका योगदान एक बेहतर राष्ट्र के निर्माण में सहायक होगा।
     
  4. देश प्रेम सिर्फ सीमा व भ्रष्टाचार के बारे में बताकर ही नहीं जगाया जा सकता। बच्चे को बताएं कि कैसे हम अपने आसपास सफाई रखकर, सार्वजनिक सामानों की रक्षा करके व गरीब वंचित के प्रति संवदेना रखकर भी देश की बेहतरी में अपना योगदान दे सकते हैं। अगर बच्चा यह सब सीख ले तो देश का भविष्य जरूरी उज्ज्वल होगा। 
     
  5. बच्चे को देश की आजादी के लिए कुर्बानी देने वाले नायकों की कहानी सुनाएं, उनकी कुर्बानियों का मतलब भी बताएं। इससे बच्चे में देश प्रेम की भावना जागेगी। वह उन नायकों को अपना आदर्श मानकर उनके पदचिह्नों पर चलने की कोशिश करेगा।
     
  6.  शिक्षकों का बच्चों पर बहुत असर पड़ता है। बच्चे शिक्षकों की बात को ज्यादा सिखते हैं, ऐसे में शिक्षकों का भी दायित्व है कि वे बच्चों में देश प्रेम की भावना जगाएं। बच्चों में इस बात का बोध कराना बहुत जरूरी है कि अगर वे अपना भविष्य बना लेंगे, तो देश का भविष्य अपने आप निखर जाएगा। 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 1
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Jan 12, 2018

अति उत्तम ब्लॉग। देश प्रेम की भावना जागृत करने के उत्तम सुझाव।

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}