• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
पेरेंटिंग

शिशु के बाल कटवाते समय किन बातों का रखें ख्याल?

Deepak Pratihast
1 से 3 वर्ष

Deepak Pratihast के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Mar 09, 2020

शिशु के बाल कटवाते समय किन बातों का रखें ख्याल
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

बच्चों के रोजमर्रा के काम में उनकी ग्रूमिंग बहुत ज़रूरी है, जिसमें हेयर कट यानि बाल काटना भी शामिल है। इस कार्य की पूर्ति करते वक्त बच्चे बेहद परेशान करते हैं। इस परेशानी से बचने के लिए आइए जानें कुछ खास टिप्स।

शिशु के बाल कटवाते समय इन बातों का रखें ध्यान / Keep These Things In Mind While Cutting A Baby's Hair In Hindi

 

उसका मन किसी दूसरी ओर लगाएं

कई बार बच्चा बाल कटवाने से डरता है और हिलता-डुलता रहता है। ऐसे में आप इस बात का ध्यान ज़रूर रखें कि वो ज़्यादा हिले-डुले न क्योंकि इससे उसे चोट लग सकती है। इसके लिए आप उसके आगे कुछ ऐसी चीज़ें रख दें जिसे वह शांति से देख सकें। हालांकि आजकल कुछ सैलून में बेबी के सामने ऐसी स्क्रीन लगी होती है जिसे वह चुपचाप देखते हैं। इससे न तो बच्चे हिलते हैं और बाल भी कट जाते हैं।

 

एक्सपर्ट द्वारा ही हो हेयर कट

बच्चों के बाल काटने के लिए किसी ऐसे व्यक्ति का ही चयन करें जिसे बच्चों की हेयर कटिंग का एक्सपीरियंस हो। क्योंकि किसी नए व्यक्ति से शिशु को नुकसान पहुंच सकता है। इसके अलावा इन बातों का जरूर ध्यान रखें कि हेयर कटिंग के लिए जिन टूल्स का यूज हो रहा है वो साफ सुथरे हैं या नहीं। कई बार गंदगी की वजह से भी बच्चे को इन्फेक्शन हो सकता है।

इस ब्लॉग को जरूर पढ़ लें:- बच्चे का मुंडन संस्कार कराना क्यों जरूरी होता है ?

माहौल को शांत रखें

इसमें कोई शक नहीं है कि बाल कटवाते वक्त बच्चे रो-रो कर पूरा घर उठा लेते हैं। ऐसे में उन्हें शांत करवाने के लिए सारा परिवार इकट्टठा न हो, इससे वो चुप होने की बजाय और अधिक घबरा जाएंगे। बच्चों के बाल कटवाने के दौरान भीड़ इकट्टठी न करें और आस-पास के माहौल को शांत रखें।

 

बच्चे को कुर्सी की जगह अपनी गोद में बिठाएं

बच्चे सबसे अधिक अपने मां की गोद में सुरक्षित महसूस करते हैं। ऐसे में कोशिश करें कि जब उनके बाल कट रहे हों, तब वह आपके गोद में हों।

 

मनपसंद खिलौने व टॉफीज़ साथ ज़रूर रखें

छोटे बच्चों को कुछ चीज़ों से काफी लगाव हो जाता है, जिसे वो अपने पास रखने पर ज़्यादा ख़ुशी महसूस करते हैं। इसके साथ ही आप उनके लिए कुछ खाने-पीने की भी चीज़ें साथ में रखें ताकि रोने पर आप उन्हें शांत करवा सकें।

इन उपायों को अगर आप आजमाते हैं तो आपका बच्चा हेयर कटिंग को भी एन्जॉय कर सकता है और आपकी मुश्किलों का आसान हल निकल सकता है।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 1
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Jun 25, 2019

vvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvvv

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Deepak Pratihast
मॉमबेस्डर
आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट
आज का पैरेंटून
पैरेंटिंग के गुदगुदाने वाले पल

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}