• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
पेरेंटिंग शिशु की देख - रेख

गर्मी में बच्चों के कपड़ों का रखें विशेष ध्यान

Mommy Megha
0 से 1 वर्ष

Mommy Megha के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Aug 25, 2020

विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

 

गर्मी का मौसम छोटे बच्चों के लिए काफी परेशानियों वाला होता है। दरअसल इस मौसम में बच्चों को स्वास्थ्य और त्वचा के अलावा कई अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस दौरान सबसे बड़ी समस्या गर्मी की वजह से स्किन पर रैशेज व फोड़ों की होती है। यह समस्याएं देखभाल में कमी व ठीक कपड़े न पहनाने की वजह से होती हैं। आज हम आपको बताएंगे कि आखिर गर्मी में कैसे रखें बच्चों के कपड़ों का विशेष ध्यान।

इन बातों पर करें अमल

  1. कॉटन (सूती) के कपड़ों पर दें जोर – गर्मी में पसीने की वजह से अधिक समय तक त्वचा गिली रहने से बच्चों को घमौरियों व स्किन रैशेज की दिक्कत ज्यादा होती है। इससे बचाने के लिए उन्हें कॉटन के कपड़े पहनाएं। दरअसल कॉटन के कपड़े अन्य कपड़ों की तुलना में अधिक पसीना सोखते हैं। इससे जब बच्चे को पसीना आता है तो सूती कपड़े नमी को सोख लेते हैं, जबकि सिंथेटिक फाइबर से बने कपड़े ऐसा नहीं करते। इससे बच्चे को नुकसान पहुंचता है।
  2. रंग पर भी दें ध्यान – इस मौसम में आपको बच्चे के कपड़ों के रंगों पर भी खास ध्यान देना चाहिए। बेहतर होगा कि आप उसे हल्के कलर के कपड़े पहनाएं। दरअसल गहरे रंग (खासकर ब्लैक कलर) रोशनी सोखते हैं, जिससे स्किन जल्दी गरम हो जाती है और पसीना आता रहता है। वहीं हल्के रंग रोशनी को नहीं सोखते, इस वजह से ठंडक बनी रहती है। ऐसे में हल्के कलर के कपड़ों से बच्चों को पसीना कम आएगा और स्किन की समस्या नहीं होगी।
  3. शरीर पूरी तरह ढ़का रहे – गर्मी में अगर बच्चे को बाहर ले जा रहे हैं, तो कोशिश करें कि उसे ऐसे कपड़े पहनाएं जिससे उसका पूरा शरीर ढ़का रहे। सिर ढ़कने के लिए हैट का इस्तेमाल करें। हालांकि हैट पहनाते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि हैट इलास्टिक की पट्टी वाला न हो, गर्दन में इलास्टिक फंसने से ब्लड सर्कुलेशन प्रभावित हो सकता है।
  4. बेवजह डायपर पहनाने से बचें – गर्मी में कोशिश करें कि बच्चे को बेवजह डायपर न पहनाएं। दरअसल डायपर हमेशा पहनने से बच्चे के उस हिस्से में रैशेज आ जाते हैं। ऐसे में इस बात का ध्यान रखें कि अगर बच्चा घर पर है, तो डायपर की जगह सूती कपड़े का ही इस्तेमाल करें। कहीं बाहर जाने पर ही डायपर पहनाएं तो बेहतर।
  5. ज्यादा टाइट कपड़े न हों – गर्मी में बच्चों को कपड़े पहनाते वक्त इस बात का भी ध्यान रखें कि उनके कपड़े ज्यादा टाइट न हों। कपड़ा जितना ढीला-ढाला होगा उतना बेहतर रहेगा। दरअसल टाइट कपड़े में बच्चे का स्किन हमेशा सख्त रहेगा और गीला रहेगा। इससे घमौड़ियां होने की संभावना ज्यादा रहेगी

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 3
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.

| May 22, 2018

makhana 8month babyko de sakte h

  • Reply
  • रिपोर्ट

| May 22, 2018

makhana 8month babyko de sakte h

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Apr 16, 2019

@sandesh Ghaede, जब आपका बच्चा एक साल का हो जाए तब आप थोड़ी मात्रा में मखाना खिला सकती हैं

  • Reply
  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}