• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
पेरेंटिंग स्वास्थ्य

आदतें आपके बच्चे को दिल की बीमारी से बचाने के लिए

Deepak Pratihast
3 से 7 वर्ष

Deepak Pratihast के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jan 28, 2020

आदतें आपके बच्चे को दिल की बीमारी से बचाने के लिए
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

आज के समय में दिल की बीमारी दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। जिसकी खास वजह बचपन से ही गलत खान पान और इसकी तरफ ध्यान न देना है। आज की तारीख में अधिकांश लोगों की मौत का कारण दिल की बीमारी है। अब तो बच्चे भी इस बीमारी की चपेट में आ रहे है इसलिए अगर आप चाहते हैं कि आपके बच्चे इस समस्या से बचे रहे तो आपको उनकी आदतों में बदलाव लाने की जरूरत होगी। इन आदतों से वह लंबे समय तक स्वस्थ रहेंगे और दिल की बीमारी से भी बचे रहेंगे।

बच्चों को दिल की बीमारी से कैसे बचाएं? / What to Do to Protect Children from Heart Disease?

आज की बिगड़ती लाइफस्टाइल का खामियाजा बच्चों के सेहत को भी भुगतना पड़ जाता है। अगर हम अभी से अपने बच्चे के स्वास्थ्य को लेकर सजग हो जाएं तो कई तरह की गंभीर बीमारियों से भी रक्षा हो सकती है। बच्चों को दिल की बीमारी से बचाने के लिए ये काम करें...

  • ​बच्चे को मोटापे से बचाएं - आज कल के जीवन शैली में कुछ बच्चों का वजन बहुत तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे बच्चों को भी हार्ट की समस्या होने की संभावना होती है। मोटापे को घटाने के लिए उन्हें रोजाना एक्सरसाइज करने की आदत डालें और कम कैलोरी वाला भोजन खाने दें।
  • कोलेस्ट्रॉल चैकअप करवाते रहें - ब्लड में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा ज्यादा होने से भी हार्ट की समस्या हो सकती है। इससे ब्लड का फ्लो कम हो जाता है। अगर परिवार में किसी को दिल और कोलेस्ट्रॉल की समस्या रही हो तो बच्चों का टेस्ट जरूर करवाते रहना चाहिए।
  • खेल कूद में भाग लेने को बोले - खेल या अन्य शारीरिक गतिविधियों से मांसपेशियों का विकास होता है। स्वस्थ हड्डियों और मांसपेशियों के अच्छे विकास के लिए आपको बच्चे को किसी भी तरह का खेल खेलने के लिए उत्साहित करना चाहिए। जब आपका बच्चा खेलों में भाग लेता है तो आपके बच्चे की इम्यूनिटी बढ़ती है। इसके अलावा बच्चे को खुली हवा में छोड़ना अच्छा होता है इससे दिल भी स्वस्थ रहता है । 
  • ब्लड प्रेशर चैकअप करवाते रहें - बच्चों को दिल की बीमारियों से बचा कर रखने के लिए उनका रूटीन बी.पी. चेक करवाते रहें क्योंकि बी.पी. ही इस समस्या का खास कारण है। जिन बच्चों को नींद कम आती हो या फिर हर समय थकावट महसूस होती हो उनके तुरंत टेस्ट करवाने चाहिए।
  • ज्यादा तले भुने और तेल मसाले से दूर रखें-- दिल को मजबूत बनाने के लिए बच्चों को हाई कैलोरी वाले फास्ट फूड्स और फैट वाले भोजन से दूर रखें। उन्हें रोज हेल्दी और पौष्टिक आहार खाने की आदत डालें। उनकी डाइट में फल, सब्जियां और रोज 1 गिलास दूध शामिल करें। तेज दिमाग के लिए उन्हें रोज चार बादाम खाने के लिए दें। भोजन में ज्यादा नमक और चीनी की मात्रा नियंत्रित रखें।
  • योग और एक्सरसाइज की डालें आदत-- बच्चे को फ्रैश और तंदरूस्त रखने के लिए उन्हें रोजाना आधा घंटा एक्सरसाइज या योग करने की आदत डालें। उन्हें इस आदत को डालने के लिए आप भी उनके साथ योग या एक्सरसाइज करें। इसके अलावा उन्हें पढ़ाई के साथ खेलने के लिए बोलें क्योंकि हर वक्त पढ़ाई की टेंशन से उन्हें कई बीमारियां घेर सकती है।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 1
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Aug 29, 2018

very nice.. true..

  • Reply
  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}