बाल मनोविज्ञान और व्यवहार

कैसे बनाएं बच्चे को निडर

Parentune Support
3 से 7 वर्ष

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Oct 12, 2017

कैसे बनाएं बच्चे को निडर

छोटे बच्चों में डर एक बड़ी समस्या है। बच्चे अलग-अलग वजहों से डर जाते हैं। ये डर नींद के अलावा जागने के दौरान भी होता है। यह समस्या नवजात के अलावा 1 साल से लेकर 7 साल व उससे ऊपर के बच्चों में भी रहती है। बच्चे की इस दिक्कत से पैरेंट्स भी परेशान हो जाते हैं। अगर आपके बच्चे के साथ भी ऐसी दिक्कत है, तो आप परेशान न हों। बस आप पहले बच्चे से डर का कारण जानें, जब बच्चा कारण बता दे तो उसके दिमाग से उस डर को दूर करें।

पहले पूछें ये 5 सवाल

  1. अगर आपका बच्चा डर रहा है, तो पहले उससे विस्तारपूर्वक पूछें कि आखिर वह किस चीज से डर रहा है।
  2. इसके बाद उससे ये जानने की कोशिश करें कि वह उस चीज से क्यों डर रहा है।
  3. अगर बच्चा किसी व्यक्ति का नाम लेता है, तो ये पूछें कि क्या उस व्यक्ति ने कभी डराया या गलत किया।
  4. अगर बच्चा नींद में डरता है तो ये पूछें कि क्या देखकर डरता है। हो सकता है कि वह किसी बुरी छवि की कल्पना करके डरता हो, अगर वह बताएगा तभी आप ये डर दूर कर पाएंगे कि ऐसा कुछ नहीं होता।
  5. ये भी पूछें कि कब से डर रहा है।

किन वजहों से डरता है बच्चा

  1. अंधेरा ; बच्चों को सबसे ज्यादा डर अंधेरे से लगता है।
  2. बुरा सपना ; यह भी बच्चों के डर का एक बड़ा कारण है। हालांकि बुरे सपने की वजह से बड़े भी डरते हैं, लेकिन ये समस्या ज्यादा बच्चों के साथ होती है।
  3. डरावनी छवि से ; कई बार बच्चे के मन में डरावनी छवि या चेहरा उत्पन्न होने से भी वह डर जाते हैं।
  4. अजनबी लोगों से ; अजनबी लोगों को देखकर अकसर बच्चा असहज हो जाता है और डर कर रोने लगता है।
  5. बिजली कड़कने से ; बारिश के दौरान बिजली कड़कने की आवाज से भी बच्चे डर जाते हैं।
  6. पैरेंट्स से दूर रहने पर ; बच्चे सबसे ज्यादा सेफ पैरेंट्स के साथ महसूस करते हैं। जब आप बच्चे को अकेला छोड़ते हैं, तो कई बार वह डर जाते हैं।
  7. डॉक्टर व पुलिस से ; बच्चे डॉक्टर व पुलिस से भी काफी डरते हैं। डॉक्टर को लेकर उनके मन में डर बैठ जाता है कि वह सुई लगा देगा, जबकि पुलिस को लेकर ये रहता है कि पुलिस बच्चे को पकड़ लेती है।

इन बातों का रखें ध्यान

  1. बच्चों से करें बात ; अगर आप बच्चे से बात करेंगे तो इससे वह काफी सहज महसूस करेगा। बात करके उससे जानें कि आखिर डर की वजह क्या है। जब वह अपना डर बता दे तो आप अपनापन जताएं। उसे बताएं कि आप भी बचपन में कई चीजों से डरते थे। इससे उसके मन में डर का हौव्वा नहीं बनेगा। बच्चे का डर आपके प्यार और देखभाल से ही दूर हो सकता है।
  2. डर को न करें नजरअंदाज ; अगर आपका बच्चा किसी रिश्तेदार या पड़ोसी से डरता है तो उसके पास जाने के लिए उसे विवश न करें। अपने बच्चे से बात करें और जानें कि आखिर उसे उससे डर क्यों लगता है।
  3. डर का न उड़ाएं मजाक ; कभी भी अपने बच्चे के डर का मजाक न उड़ाएं। इससे उसका डर कम नहीं होगा, उल्टा उसकी घबराहट बढ़ जाएगी और उसके आत्मसम्मान में भी कमी आएगी। इससे डर और बढ़ सकता है।
  4. डरावने चरित्रों से दूर रखें ; अक्सर बच्चे उन काल्पनिक चरित्रों से डरते हैं, जिन्हें वे टीवी पर देखते हैं। दरअसल बच्चा वास्तविकता और कल्पना में अंतर नहीं समझता। ऐसे में जरूरी है कि आप उसे इस तरह के डरावने चरित्रों से दूर रखें।
  5. न दिखाएं अंधेरे का डर - बच्चों को सबसे ज्यादा डर अंधेरे से लगता है। इसका फायदा उठाते हुए कुछ पैरेंट्स बच्चे को शांत करवाने के लिए या अपनी बात मनवाने के लिए अंधेरे का सहारा लेते हैं, लेकिन ये गलत है। अगर आप भी ऐसा कर रहे हैं, तो तुरंत बंद कर दें। दरअसल इससे बच्चे डर तो जाते हैं, लेकिन उनके मन पर बुरा असर पड़ता है और उनके मन में हमेशा के लिए डर बैठ सकता है।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}