• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
खाना और पोषण

सर्दी के मौसम में सबसे फायदेमंद है अरबी की सब्जी, 10 बड़े फायदे जरूर जान लें

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Nov 24, 2021

सर्दी के मौसम में सबसे फायदेमंद है अरबी की सब्जी 10 बड़े फायदे जरूर जान लें
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

खाने में जायके का ध्यान तो रखना ही चाहिए लेकिन इसके साथ ही भोजन में पौष्टिकता या पोषक तत्वों के महत्व की भी अनदेखी नहीं की जा सकती है। आपसे एक सवाल पूछना चाहूंगा, आपका पसंदीदा सब्जी कौन सा है? कुछ लोग गोभी कहेंगे तो कुछ लोग परवल, कुछ लोग बैंगन का नाम लेंगे तो कुछ भिंडी भी जवाब देंगे? पौष्टिकता के मामले में हरी सब्जियों का अपना अलग महत्व है लेकिन आज हम आपको एक ऐसे सब्जी के गुणों के बारे में विस्तार से जानकारी देने जा रहे हैं जो कतई हरी सब्जी की श्रेणी में नहीं आता है, आप इस सब्जी के रूप-रंग पर ना जाएं बल्कि इसके गुणों पर ही ध्यान दें। हम बात कर रहे हैं अरबी नामके सब्जी की जिसे अंग्रेजी में (taro root) यानि टैरो रूट भी कहा जाता है। अरबी की सब्जी के अनेक फायदे (Amazing Benefits Of Taro Root Arbi) हैं

अरबी की सब्जी में कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं?  

अरबी की एक खासियत होती है, आप इसको सूखे सब्जी के तौर पर भी प्रयोग में ला सकते हैं और तरी वाली सब्जी के रूप में भी ग्रहण कर सकते हैं। अरबी के अंदर पर्याप्त मात्रा में फाइबर, एंटी ऑक्सीडेंट, मैग्नीशियम, विटामिन सी, विटामिन ई और प्रतिरोधी स्टार्च मौजूद होते हैं। डायबिटीज और हृदय रोग की समस्या से ग्रसित रोगियों के लिए अरबी की सब्जी तो काफी फायदेमंद है। इसके अलावा कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों से भी बचाव करने में अरबी मददगार साबित हो सकता है।

अरबी की सब्जी का सेवन करने से किन बीमारियों से होगा बचाव?

अपने गुणों और भरपूर मात्रा में पोषक तत्वों की मौजूदगी के चलते अरबी अनेक बीमारियों से बचाव करने में कवच का काम कर सकता है। 

  • बालों के गिरने की समस्या में मिलती है राहत- (Benefits of Arbi in Hair Fall in Hindi)- आज के समय में बालों का गिरना एक आम समस्या के तौर पर उभर कर सामने आ रहा है। बालों के गिरने की परेशानी महिलाओं व पुरुषों में समान रूप से देखा जा सकता है। आयुर्वेद विशेषज्ञों के मुताबिक अरबी के कंद का रस निकालकर सिर पर मालिश करने से बालों का गिरना बंद हो सकता है। हालांकि हमारी सलाह है कि आप किसी प्रकार के प्रयोग को आजमाने से पहले किसी आयुर्वेद एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।Amazing Benefits Of Taro Root

  • सिरदर्द की समस्या में अरबी के फायदे (Benefits of Arbi in Relief from Headache in Hindi)- सिरदर्द की समस्या से अगर आप अक्सर परेशान रहते हैं तो आप अरबी के कन्द के रस में छाछ-दही मिलाकर सेवन करें। 

  • कान से संबंधित बीमारियों में अरबी के फायदे (Benefits of Arbiin Ear Disease in Hindi)-  अगर किसी को कान बहने या कान दर्द की परेशानी बनी रहती है तो अरबी के पत्ते ले लीजिए। अरबी के पत्ते के एक या दो बूंद रस को कान में डालने से भी कान के बहने की समस्या से आराम मिल सकता है और कान के दर्द से भी राहत मिल सकती है। 

  • आंख से संबंधित अनेक प्रकार की बीमारियों (Benefits of Arbi in Ear Disease in Hindi) में भी अरबी का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। अरबी के पत्ते और अरबी के कंद की सब्जी का सेवन करने से आखों की बीमारियों में आराम मिल सकता है।

  • सूजन की समस्या में भी अरबी की सब्जी फायदेमंद (Arbi Vegetable Benefits in Reducing Inflammation in Hindi) है। अरबी के पत्ते और उसकी डंठलों का रस निकाल लें और इसमें थोड़ी मात्रा में नमक मिला कर रख लें। अब इस लेप को शरीर के सूजन वाले भाग पर लगाएं।

  • अनिद्रा से ग्रसित होने पर (Arbi Vegetable Benefits for Insomnia in Hindi) अरबी का सेवन निश्चित रूप से करें। अरबी के पत्ते और उसके कंद वाले भाग का सेवन करें । 

  • अगर किसी को कब्ज की परेशानी हो (Arbi Vegetable Benefitsin Fighting with Constipation in Hindi) तो भी अरबी के कंद का काढा बनाकर सेवन करना चाहिए। कब्ज की समस्या में फौरन आराम मिल सकता है।

  • अरबी के कंद का चोखा बनाकर सेवन करने से शारीरिक कमजोरी दूर हो सकते हैं।

  • भूख अगर नहीं लगती हो तो आप अरबी के पत्तों का जूस बना लें। अरबी के इस जूस में स्वादानुसार दालचीनी, इलायची और अदरक की कुछ बुंदे मिला लें। इसका सेवन दिन में 2 से 3 बार करने से भूख ना आने की समस्या दूर हो सकते हैं।

  • उच्च रक्तचाप यानि हाई ब्लड प्रेशर की समस्या में अरबी की सब्जी का सेवन करने से लाभ मिल सकता है।

  • कब्ज के अलावा अगर किसी को दस्त की समस्या हो तो भी अरबी की सब्जी काम आ सकती है। अरबी के पत्ते का काढ़ा बना कर कम-कम मात्रा में सेवन करते रहने से दस्त पर नियंत्रण हो सकते हैं।

  • दांत के दर्द में भी अरबी आराम दिलाता है। 

  • शरीर के किसी अंग में अगर बहुत पुराना घाव है और ठीक नहीं हो पा रहा है तो आपको कुछ उपाय अवश्य करना चाहिए। अरबी के पत्तों का रस निकालकर जख्म वाले हिस्से पर लगाएं। इससे उस घाव वाले स्थान पर रक्तस्राव होना बंद हो जाएगा और कुछ ही दिनों में जख्म भर सकता है।

  • एक रिसर्च के मुताबिक अरबी में कैंसर के विपरित कार्य करने की क्षमता होती है और यही वजह है कि अरबी की सब्जी का सेवन करने से कैंसर के खतरे से भी बचाव मुमकिन है।

  • अरबी में टैनिन नामका एक तत्व पाया जाता है। अरबी डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करता है क्योंकि यह शर्करा की मात्रा को खून में सामान्य बनाए रखता है।

  • सर्दी के मौसम में ज्यादातर लोगों को त्वचा की समस्याएं हो सकते हैं। अरबी में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है और अपने इसी गुण की वजह से त्वचा को किसी प्रकार के सूजन से बचाकर रखता है। त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में भी अरबी गुणकारी साबित हो सकता है।

  • वजन को कम करने में भी अरबी फायदेमंद है। अरबी में पर्याप्त मात्रा में फाइबर पाया जाता है। फाइबर अपने गुणों की वजह से पाचन तंत्र को सुचारू काम करने में मदद करता है और इसलिए शरीर में फैट जमा नहीं हो पाता है।  

  • इम्यूनिटी को मजबूत बनाए रखता है अरबी- अरबी में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं और इसलिए इसका सेवन करने से शरीर में प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत बनते हैं।

  • खांसी की समस्या को दूर करने में अरबी के फायदे- अरबी में एक ग्लाइकोसाइड्स नामका तत्व भी पाया जाता है। इस तत्व की मदद से खांसी में जमा होने वाले बलगम को शरीर से बाहर निकलने में मदद मिलती है।

  • हृदय रोग में अरबी का सेवन करने के फायदे- अरबी के डंठल का जूस बनाकर पीने से हृदय से संबंधित अनेक बीमारियों में आराम मिलता है। 

  • जहरीले जानवरों के काटने पर अरबी के फायदे- ततैया या मधुमक्खी के काटने पर उस जगह पर अरबी के पत्तों का रस लगा लें इससे दर्द में फौरन आराम मिलता है। अगर किसी जहरीले जानवर ने काट लिया है तो वहां भी अरबी के डंठल का रस लगाने से आराम मिल सकता है।

क्या अरबी का सेवन करने के नुकसान भी हैं?

अरबी के पत्ते और कंद में कैल्शियम ऑक्जलेट नामका तत्व भी पाया जाता है। अरबी का अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से गले या मुंह में खुजली जैसी परेशानी हो सकती है। इसके लिए उपाय ये है कि आप अरबी का सेवन पानी में उबालकर ही करें। अगर अधिक मात्रा में अरबी का सेवन कर लिया जाए तो मुमकिन है कि शरीर में बदहजमी या गैस की समस्या पैदा हो सकते हैं। 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप खाना और पोषण ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}