शिक्षण और प्रशिक्षण

भारत का गौरव है भारतीय सेना

Prasoon Pankaj
3 से 7 वर्ष

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jan 11, 2018

भारत का गौरव है भारतीय सेना

भारतीय सेना पर देश के हर नागरिक को गर्व है। सेना के जवान जमीन, पानी और आकाश मार्ग की सरहद पर मुस्तैद होकर दुश्मनों से हमारी व देश की रक्षा करते हैं। देश की रक्षा के लिए वे अपनी जान भी दे देते हैं। हमारे पड़ोस में एक तरफ पाकिस्तान तो दूसरी तरफ चीन जैसा देश है, जो हमेशा आक्रमणकारी मूड में रहता है। पर हमारी सेना इन सबसे निपटने के लिए 24 घंटे मुस्तैद रहती है। भारतीय सेना एक सच्चे समर्पण और देशभक्ति की भावना के साथ काम करती है। देश में शांति और स्थिरता बनाए रखने में उनका बहुत बड़ा योगदान है। सही मायनों में भारतीय सेना देश का गौरव हैं। ऐसे में जरूरी है कि हम अपने बच्चों को भारतीय सेना व उनकी बहादुरी के बारे में बताते रहें।
 

बच्चे को ऐसे समझाएं सेना के महत्व के बारे में / Explain The Importance Of The Army to the child

  1.  बच्चे को बताएं कि हमारे बहादुर सैनिक सीमाओं पर प्रतिकूल परिस्थितियों में रहकर देश की रक्षा करते हैं। सेना के जवान ना सिर्फ हमें बाहरी आक्रमण से नहीं बचाते हैं, बल्कि ये प्राकृतिक आपदाओं में भी जान जोखिम में डालकर देश के नागरिकों की रक्षा करते हैं। 
     
  2. भारतीय सेना के मुख्यत: तीन अंग हैं। थल सेना, जल सेना यानि नौसेना और वायु सेना। थल सेना जमीन पर दुश्मनों का मुकाबला करने के लिए तत्पर रहते हैं और देश की सरहदों पर तैनात रहते हैं। जल सेना यानि नौसेना जल मार्ग के माध्यम से दुश्मनों की गतिविधियों पर नजर बनाए रखते हैं वहीं पर वायुसेना के जवान आसमानी मार्ग पर मुस्तैद रहते हैं।  
     
  3.  बच्चों को बताएं कि हम अपनी सेना से बहुत कुछ सीख सकते हैं। भारतीय सेना अनुशासन का एक बड़ा उदाहरण है। सेना सख्त दिनचर्या का पालन करना, अनुशासन में रहना व विपरित परिस्थितियों का सामना करना सिखाती है। कई समस्याएं होने के बाद भी वे कभी राष्ट्र की निंदा नहीं करते हैं। देश के प्रति सम्मान और प्यार की सीख भी सैनिकों से ली जा सकती है।
     
  4. . सीयाचिन ग्लेशियर दुनिया का सबसे ऊंचाई पर स्थित रणक्षेत्र है। समुद्र तल से इसकी ऊंचाई 5000 मीटर है। यहां पर तापमान -50 डिग्री से नीचे चला जाता है। इतने कठिन वातावरण में रहकर भारतीय सेना देश की रक्षा करती है।
     
  5. भारतीय सेना चीन और अमेरिका के बाद दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी सेना है। भारत की पूरी सेना में करीब 13 लाख 25 हजार सक्रिय सैनिक और 21 लाख 43 हजार से अधिक रिजर्व सैनिक हैं।
     
  6.  भारत के पास दुनिया की सबसे बड़ी स्वैच्छिक सेना है। भारतीय संविधान में अनिवार्य भर्ती का प्रावधान होते हुए भी भारतीय सेना को अबतक ऐसा नहीं करना पड़ा है। पूरी सेना अपनी इच्छा से इसमें शामिल हुई है।
     
  7.  2013 में उत्तराखंड में बाढ़ से आई तबाही के दौरान सेना की तरफ से चलाया गया ऑपरेशन राहत दुनिया का सबसे बड़ा सैनिक बचाव कार्य है। इस बचाव कार्य में सेना ने करीब 2 लाख लोगों को बचाया।
     
  8.  भारतीय सेना दुनिया के सबसे ऊंचे सेतु का निर्माण कर चुकी है। बेली ब्रिज दुनिया में सबसे ऊंचा सेतु है। 1982 में इसे हिमालय पर्वत श्रृंखला पर द्रास और सुरु नदियों के बीच स्थित लद्दाख घाटी पर बनाया गया था।

 भारतीय सेना एक रेजिमेंट प्रणाली है, जिसके तीन प्रमुख अंग थल सेना, जल सेना और नौसेना है। तीनों सेनाओं के सर्वोच्च कमांडर भारत के राष्ट्रपति होते हैं। हैं। भारतीय सेना अब तक पाकिस्तान के साथ 4 युद्ध व चीन के साथ 1 युद्ध लड़ चुकी है। भारतीय सेना ने कभी भी समर्पण नहीं किया है। प्रत्येक साल 16 दिसंबर को हम लोग विजय दिवस के रूप में मनाते हैं। 1971 की जंग में हमारे देश की सेना ने पाकिस्तान को बुरी तरीके से परास्त किया। इस जंग के बाद ही पाकिस्तान दो टुकड़ों में बंट गया जिसे आज की तारीख में हम लोग बांग्लादेश के नाम से जानते हैं। 16 दिसंबर 1971 को पाकिस्तान के 93,000 सैनिकों ने हमारे देश की सेना के सामने सरेंडर किया था। इस जंग के दौरान तकरीबन 3900 भारतीय सेना के जवान शहीद हो गए थे। उन शहीदों और वीर योद्धाओं की याद में हम लोग प्रत्येक साल विजय दिवस के दिन श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। हमारी सेना का आदर्श वाक्य है, करो या मरो।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
टॉप शिक्षण और प्रशिक्षण ब्लॉग
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}