शिक्षण और प्रशिक्षण

सिखाये अपने बच्चो को डिजिटल वॉलेट से जुडी ये महत्वपूर्ण बांतें

Anubhav Srivastava
11 से 16 वर्ष

Anubhav Srivastava के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Sep 14, 2018

सिखाये अपने बच्चो को डिजिटल वॉलेट से जुडी ये महत्वपूर्ण बांतें

आजकल सारी चीजे डिजिटल हो रही है ,ऐसे में इससे पहले आपके बच्चे डिजिटल वॉलेट को इस्तेमाल करे आपको उन्हें इसके बारे में पूरी जानकारी देनी चाहिए जैसे इ-वालेट क्या होता है ,इसे कैसे इस्तेमाल करे ,सुरक्षा सम्बंधी जरुरी सावधानी आदि |जितना असान इसे इस्तेमाल करना होता है उतने ही आसानी से कोई दूसरा इसका गलत इस्तेमाल कर सकता है क्युकी बच्चे सावधानीयो पर ज्यादा  ध्यान नहीं देते है इसलिए ये हमारी ज़िमेदारी है की हम उन्हें पहले ही सतर्क करे।

डिजिटल वॉलेट क्या होता है/ What Is Digital Wallet In Hindi

 --  इसका इस्तेमाल ऑनलाइन लेन - देन मे किया जाता है। यह बिलकुल हमारे पर्श की तरह होता है। हम अपने पर्श या वॉलेट मे पैसा रखते है। जरुरत पड़ने पर उस पैसे का इस्तमाल करते है। जब वॉलेट में पैसे खत्म हो जाता है। तब उस वॉलेट में जरुरत के हिसाब से फिर से पैसे रखते है। ठीक उसी तरह का काम इ वॉलेट भी करता है। लेकिन इसमें आपको वॉलेट रखने की जरुरत नहीं होती है। आपका स्मार्टफ़ोन वॉलेट का काम करता है। हम अपने डिजिटल वॉलेट को अपने बैंक अकाउंट से लिंक करते है। डिजिटल  वॉलेट का इस्तमाल हम ऑनलाइन पेमेंट, बिल भरने, शौपिंग करने आदि मे करते है।

डिजिटल वॉलेट का इस्तेमाल कैसे करे/ How To Use Digital Wallet In Hindi

 -- इसके इस्तेमाल के लिए आपके पास  स्मार्टफ़ोन होना चाहिए। अब आपको जिस कंपनी की इ वॉलेट अपने स्मार्टफ़ोन पर रखना चाहते है। उस कंपनी के संबंधित वेबसाइट पर जाना होगा और एप्लीकेशन को डाउनलोड करना होगा।अब आप इस एप्प को खोल ले।फिर आपको इसमे अपनी जानकारी देनी होगी अपना मोबाइल नंबर, नाम और पासवर्ड आदि डालना होगा | इस तरह आपका अकाउंट बन जायेगा। इतना करने के बाद यदि आप इससे पेमेंट करना चाहते है। तो आपको अपने क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड को इससे जोड़ना होगा।अपने अकाउंट से पैसे ट्रान्सफर कर दे और वो पैसे आपके बैंक अकाउंट से काटकर आपके इ वॉलेट में आ जायेगा। जब आपके डिजिटल वॉलेट में पैसे आ जायेंगे, तब आप इससे किसी को भुगतान कर सकते है।

 

केवल जरूरी जानकारी ही दें --आपको अपने बच्चो को बताना होगा की किसी भी वेबसाइट पर कभी भी जरुरत से ज़्यादा जानकारी नहीं देनी चाहिए, खासकर अत्यधिक व्यक्तिगत जानकारी जैसे कि आपका आधार कार्ड नंबर या ड्राइविंग लाइसेंस नंबर । विक्रेता डेटा एकत्र करने के लिए जानकारी लेते है और ऑनलाइन चेकआउट फ़ॉर्म बनाते हैं। ऐसे प्रश्नों को छोड़ दें जिनको भरे बिना भी काम हो सकता है |

डिजिटल  वॉलेट डिवाइस को सुरक्षित रखे --अगर आपके बच्चे डिजिटल  वॉलेट का इस्तेमाल करते है तो उन्हें ये जरुर बताए की किसी अजनबी को अपने फ़ोन का उपयोग ना करने दे या फिर सोच विचार और सावधानी बरत कर ही किसी को अपना आपके फ़ोन का उपयोग करने के लिए दे|अपने फोन पर उपयोगकर्ता नाम, पासवर्ड, बैंकिंग नंबर, और अन्य संवेदनशील जानकारी ना रखे | अपने फोन के साथ अपने क्रेडिट कार्ड की तरह व्यवहार करें| अगर यह खो गया है या चोरी हो गया है, तो अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड प्रदाता से संपर्क करे और उसे बंद करा दे।इसके अलावा, अगर बच्चे सक्रिय रूप से मोबाइल डिवाइस पर खरीदारी करते हैं, तो सुरक्षा के लिए एक पासवर्ड,अपने फिंगर प्रिंट या फेस से खुलने वाला लॉक लगाये ।
 

ऑनलाइन पहचान को सुरक्षित रखें-- आजकल के बच्चों का ईमेल और फेसबुक अकाउंट आपसे पहले ही बना रहता है| इ-वॉलेट साइट्स ईमेल या फेसबुक अकाउंट से जुड़े रहते है।अपने बच्चे को सतर्क करे की अपना पासवर्ड किसी को न दे और किसी दुसरे के फ़ोन या लैपटॉप में अपना अकाउंट खुला ना छोड़े क्युकी आजकल ऑनलाइन पहचान को उतना ही सुरक्षित रखने की जरूरत है जितना की असली पहचान को | 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}