स्वास्थ्य

बच्चो के वजन से जुड़ी कुछ खास टिप्स

Parentune Support
3 से 7 वर्ष

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Feb 23, 2018

बच्चो के वजन से जुड़ी कुछ खास टिप्स

सभी माता पिता चाहते है की उनका बच्चा स्वस्थ और हेल्थी रहे, साथ ही बच्चे के वजन का बढ़ना भी जरुरी होता है, परंतु कई बार अपने बच्चो को सम्पूर्ण पोषण देने के बाद भी उनका वजन नहीं बढ़ता है,ऐसे  में बच्चो को ज्यादा देख रेख की जरुरत होती है, बच्चे के विकास यानि वजन व् लंबाई के बारे में आपको हर महीने जाँच करनी चाहिए, इसकी मदद से आप अपने बच्चे के विकास के सही अंदाजा लगा सकते है, तो आइये आज हम आपको बच्चो के वजन से जुड़े कुछ खास टिप्स देते है | 
 

खाने पिने पे ध्यान दे -- छह महीने तक बच्चे स्तनपान से ही अपने भोजन की पूर्ति करता है, और इस समय उसे पानी भी नहीं देना चाहिए, इसके अलावा बच्चे को हर दो घंटे में महिला को स्तनपान करवाना चाहिए, और जैसे ही बच्चे छह महीने का होता है, उसके बाद दूध को धीरे धीरे कम करके बच्चे को दाल, खिचड़ी, उबले हुए चावल, केला, फलो के रस, बिस्किट आदि का सेवन थोड़े थोड़े समय में करवाना चाहिए, क्योंकि बच्चे के शरीर में छह महीने के बाद सभी मिनरल्स की पूर्ति और उसकी भूख भी नहीं मिटती है, ऐसे में बच्चों को थोड़े थोड़े समय के बाद कुछ न कुछ जरूर देना चाहिए, इसके कारण आपके बच्चे का विकास भी होगा और उसके वजन को भी तेजी से बढ़ने में मदद मिलती है।
 

अच्छी नींद का खयाल रखे -- बच्चे के शरीर का सही से विकास हो उसके लिए ये भी जरुरी होता है, की बच्चा एक बेहतर नींद लें, नवजात शिशु दिन में कम से कम बीस घंटे सोता है,इससे उसके शरीर का  विकास होता है, उसकी मासपेशियो का विकास होता है और उसके वजन में भी परिवर्तन आता है, और आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए, चाहे बच्चा थोड़ा बड़ा हो रहा हो परंतु जितना हो सकें उसके विकास के लिए उसे सोने देना चाहिए, और उसके सोने का स्थान हमेशा खुल्ला होना चाहिए, बच्चे को कभी भी टाइट जगह पर नहीं सुलाना चाहिए, इससे भी आपके बच्चे की ग्रोथ होने में मदद मिलती है।
 

बच्चो के पेट में कीड़े तो नहीं है -- कई बच्चों के पेट में कीड़े होते है, जिसके कारण भी शिशु का वजन नहीं बढ़ पाता है, ऐसे बच्चे अपना आहार भी लेते है, और उन्हें भूख भी ज्यादा लगती है, परंतु उनके वजन नहीं बढ़ पाते है, यदि आपका बच्चा भी समय पर सब कुछ खाता है, और खेलते भी रहता तो आपको एक बार डॉक्टर से जरूर पूछना चाहिए की आपके बच्चे के पेट में कही कीड़े तो नहीं है, जिसके कारण उसका वजन नहीं बढ़ पा रहा है
 

बच्चे को ज्यादा रोने न दें-- ये भी कहा जाता है की बच्चे के शारीरिक विकास के लिए बच्चे को थोड़ी देर रोने देना चाहिए, परंतु यदि आपका बच्चा बहुत रोता है, और जब भी रोता है उसका पेट भरा हो, और बहुत चिड़चिड़ा रहता है, तो ऐसे में भी बच्चों का वजन नहीं बढ़ता है, इसके लिए आपको बच्चो को खिलोनो की मदद से हसाना चाहिए, उन्हें घुमाना चाहिए, उनसे बातें करनी चाहिए, यदि फोर भी आपका बच्चा सही नहीं होता है तो आपको एक बार डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए, क्योंकि ऐसे बच्चों का भी वजन न बढ़ पाता है।
 

 गोलमटोल बच्चा खुशहाल बच्चा -- गोलमटोल छोटे बच्चे किसे अच्छे नहीं लगते। पर अब इस तरह बच्चे होने के कई फायदे और भी हैं। जो बच्चे पैदा होते समय गोलमोल होते हैं उनके भविष्य में खुश रहने की संभावनाएं ज्यादा होती हैं। ऐसे बच्चे जिनका पैदा होते समय वजन कम होता है, उनके बाद में अवसाद और चिंताग्रस्त होने का खतरा बढ़ जाता है। यदि बचपन में बच्चे का वजन धीरे-धीरे कम होता जाता है तो उसे बाद में दिमागी असंतुलन का सामना तक करना पड़ सकता है।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}