पेरेंटिंग स्वास्थ्य खाना और पोषण

बच्चों में मोटापे की समस्या में भारत दूसरे स्थान पर

Prasoon Pankaj
7 से 11 वर्ष

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Oct 03, 2018

बच्चों में मोटापे की समस्या में भारत दूसरे स्थान पर

मोटापा अपने साथ कई बीमारियों को साथ लाता है। मोटापा अपना शिकार सिर्फ वयस्क या बड़े लोगों को नहीं बना रहा है, सबसे गंभीर चिंता का विषय ये है कि छोटे बच्चे भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। अब जो आंकड़े हम आपको बताने जा रहे हैं वे आपको हैरान कर सकते हैं। पिछले साल IMA की तरफ से पेश किए गए आंकड़ों के मुताबिक भारत में तकरीबन 1 करोड़ 44 लाख बच्चे सामान्य से अधिक वजन वाले हैं। मोटे बच्चों के मामले में चीन पहले स्थान पर वहीं दूसरे स्थान पर हमारा देश आता है। 

 

बच्चों में मोटापे बढ़ने की प्रमुख वजहें

  • बच्चों में खाने की गलत आदतों से भी बढ़ता है मोटापा
  • बॉडी की जरूरत से अधिक मात्रा में  कैलोरी युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन
  • स्नैक्स, जंक फूड, फास्टफूड, अधिक मीठा खाना, दूध कम पीना 
  • बच्चों का सक्रिय नहीं होना
  • शारीरिक गतिविधियों पर विशेष ध्यान नहीं देना
  • वीडियो गेम्स, टीवी देखने के दौरान घंटों एक ही स्थान पर बैठना या लेटे रहना
  • जेनेटिक यानि माता-पिता में भी मोटापा के लक्षण हैं
  • पौष्टिक आहार कम खाना, फल का सेवन कम करना
  • अधिक वसायुक्त भोजन 

मोटापा बढ़ने से बच्चों में इन बीमारियों का हो सकता है खतरा 

अगर आपको लग रहा है कि आपका बच्चा मोटापे का शिकार बन रहा है तो तुरंत सतर्क हो जाइये। मोटापे को इग्नोर करने की भूल बिल्कुल ना करें क्योंकि इसकी वजह से बच्चे कई खतरनाक बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं। डाइबिटीज, उच्च रक्तचाप, दिल से संबंधित बीमारी, अस्थमा, निद्रा से संबंधित रोग, कैंसर, लीवर से संबंधित रोग, लड़कियों में मासिक धर्म का जल्दी शुरू हो जाना, त्वचा संक्रमण एवं अन्य कई बीमारियों का कारण बन सकता है मोटापा। इसके अलावा मोटापा होने से आपके बच्चों में आत्मविश्वास की कमी, चिंता, डिप्रेशन आदि होने की भी संभावना बन सकती है।

 

बच्चों को मोटापा से निजात दिलाने के लिए माता-पिता आजमा सकते हैं ये उपाय:-

  • फास्ट फूड से जितनी दूरी बना कर रखें उतना अच्छा
  •  फल-सब्जियां खुद भी खाएं और बच्चों को भी खाने के लिए प्रेरित करें
  • फ्रीज में से सॉफ्ट ड्रिंक और मिठाइयों को हटा दें, इनके स्थान पर हेल्दी आइटम्स को रखें
  • घर में इस तरह का खाना बनाइये जो सेंकने, भूनने या भाप से बन सके
  • ज्यादा घी तेल वाले खाना से परहेज करें
  • एक ही बार में ज्यादा खाना मत परोसा करें
  • खाने के आइटम्स का लालच देकर बच्चों से कोई काम ना कराएं
  •  बच्चों को सुबह का नाश्ता देना अपनी रूटीन में शामिल कर लीजिए
  • सबसे पहले खुद एक्सरसाइज करना शुरू करें, आपको देखकर बच्चे के अंदर भी कसरत करने की प्रेरणा जगेगी
  • ज्यादा देर तक टीवी देखना, कंप्यूटर या मोबाइल पर चिपके रहने की आदत को छुड़वाने का प्रयास करें
  • वीकेंड में पूरे परिवार के साथ किसी पार्क में खेलने, चिड़ियाघर देखने या स्वीमिंग के लिए जाने का प्लान बनाएं
  • बच्चों से उस तरह का काम करवाएं जिसमें थोडा़ बहुत शारीरिक श्रम कर सके
  • बच्चों के सामने फिटनेस के महत्व को लेकर कुछ मिसाल पेश करते रहें

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 1
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Jun 08, 2018

Himalaya Wellness Pure Herbs Ashvagandha General Wellness - 60 Tablet https://amzn.to/2Hu0B70

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}