पेरेंटिंग स्वास्थ्य

डायरिया का प्रकोप देश भर में जानिए इस रोग के लक्षण, कारण और बचने के उपाय

Prasoon Pankaj
3 से 7 वर्ष

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Aug 21, 2018

डायरिया का प्रकोप देश भर में जानिए इस रोग के लक्षण कारण और बचने के उपाय

बारिश और बाढ़ की खबरों के बीच में देश के अलग-अलग हिस्सों से डायरिया के मामले भी सामने आ रहे हैं। बिहार-उत्तरप्रदेश के कई जिलों में डायरिया का प्रकोप बढ़ चुका है। बिहार के दरभंगा, मुजफ्फरपुर, पटना समेत कई और जिलों में वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद, हापुड़, लखनऊ में दर्जनों बच्चे डायरिया से ग्रसित होकर अस्पताल में इलाज करवा रहे हैं। तो आइये इस ब्लॉग में हम लोग जानने का प्रयास करते हैं कि डायरिया रोग के लक्षण, कारण और बचाव के उपाय क्या हैं? 

डायरिया के खतरे को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग हुआ सजग 

डायरिया की चपेट में आने से कई बच्चों की मौत हो चुकी है। अकेले गाजियाबाद में ही पिछले 2 महीने में डायरिया के 8 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। डायरिया को लेकर यूपी के प्रमुख स्वास्थ्य सचिव ने सभी जिलों से रिपोर्ट भी मांगा है। सरकार के तरफ से एहतियात बरते जा रहे हैं लेकिन जरूरत इस बात की है कि प्रत्येक माता-पिता इस बीमारी को लेकर जागरुक हों और अभी से सावधानी बरतना शुरू कर दें।

डायरिया बीमारी के लक्षण और कारण /Symptoms & Causes Of Diarrhea Disease In Hindi

गर्मी के बाद आने वाला बारिश का मौसम अपने साथ कई बीमारियों को भी लेकर आता है और उनमें से ही एक बीमारी है डायरिया।
डायरिया यानि दस्त लगना। इस बीमारी की चपेट में बच्चों के साथ बड़े लोग भी आ जाते हैं

  1. पानी और नमक की कमी के चलते डायरिया की समस्या होती है।
     
  2. यह बीमारी खाद्य पदार्थों से होने वाली एलर्जी, या पानी में पाए जाने वाले प्रोटोजोआ, वायरस या  बैक्टीरिया से होने वाली प्रतिक्रिया से भी हो सकती है। 
     
  3. डायरिया के चलते पेट के नीचले हिस्से में दर्द, पेट में मरोड़, उल्टी आना, बुखार और शरीर में कमजोरी हो जाती है
     
  4. इन लक्षणों से डायरिया की पहचान करें : एक से ज्यादा पतली दस्त होना, पेट में ऐंठन, जी मिचलाना, पेट में दर्द, हल्का सिरदर्द, चक्कर आना, उल्टी होना

 

डायरिया से बचाव के लिए घरेलू नुस्खे/ Home Remedies For Diarrhea In Hindi 

 

डायरिया से बचाव के लिए इन घरेलू नुस्खों को आजमा सकते हैं। 

  1.  एक गिलास पानी में 2 चम्मच चीनी और चुटकीभर नमक और नींबू का रस मिलाकर पीलाएं। इससे बच्चों को तुरंत आराम मिल जाएगा।
     
  2. नारियल पानी- डायरिया की समस्या में नारियल पानी बहुत फायदेमंद होता है। नारियल पानी में मौजूद पोषक तत्व शरीर की कमजोरी को भी दूर करते हैं।
     
  3. दाल का पानी- डायरिया के दौरान बच्चों को दाल का पानी, चावल का मांड़ और दही-केला खिला सकते हैं। 
     
  4. पानी में सौंफ का चूर्ण मिलाकर बच्चे को पिलाने से भी दस्त की समस्या दूर होती है
     
  5. अनार के छिलके को सूखाकर अच्छे से पीस लें। इसके बाद इस चूर्ण में शहद मिलाकर बच्चे को दिन में 3 से 4 बार दें। 
     
  6. डायरिया में होने वाले डिहाइड्रेशन से बचने के लिए ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ लें। अगर उल्टियां भी हो रही हैं तो एक बार में बहुत अधिक पानी पीने की बजाय थोड़ी-थोड़ी मात्रा में पानी पीलाते रहें।
     
  7. इस दौरान बच्चे को आराम और पर्याप्त नींद लेने से भी राहत मिलेगी
     
  8. मसालेदार खाने से परहेज रखें

अगर बच्चे को दो दिनों से ज्यादा समय से दस्त है, पेट या गले में गंभीर दर्द है, तेज बुखार है तो फौरन नजदीकी अस्पताल या डॉक्टर से दिखाएं। 

 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}