• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

जानें ठंड में पेट्रोलियम जेली के इस्तेमाल से होने वाले नुकसान

Deepak Pratihast
0 से 1 वर्ष

Deepak Pratihast के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jun 16, 2020

जानें ठंड में पेट्रोलियम जेली के इस्तेमाल से होने वाले नुकसान
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

सर्दियां आते ही त्वचा रूखी होने लगती हैं। इससे बचने के लिए पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल शुरू हो जाता है। सर्दी के मौसम में पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल सबसे ज्यादा होता है। बच्चों की त्वचा को लेकर पैरेंट्स ज्यादा चिंतित रहते हैं। ऐसे में वे बच्चे को भी पेट्रोलियम जेली लगाते हैं लेकिन बच्चों की त्वचा नाजुक होती है, ऐसे में पेट्रोलियम जेली का ज्यादा इस्तेमाल उन्हें नुकसान भी पहुंचा सकता है। ऐसे में जरूरत है खास ध्यान देने की। यहां हम बताएंगे पेट्रोलियम जेली से होने वाले नुकसान के बारे में।

ठंड में पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल बच्चे के लिए कितना सही​?/ Side-effects of Petroleum Jelly for Babies​ in Hindi

  • सूज सकते हैं फेफड़े – दरअसल पेट्रोलियम जेली में 1,4- dioxane।  जैसे कई घातक रसायन होते हैं, जिससे बड़ों तक को कैंसर भी हो सकता है। यही नहीं अगर आप पेट्रोलियम जेली को जरा सा सूंघ लें, तो आपको लिपीडो निमोनिया और फेफड़ों में सूजन की समस्या हो सकती है। अब आप अंदाजा लगाइए कि इससे बच्चे की स्किन पर क्या असर पड़ेगा।
     
  • त्वचा को भी नुकसान - डेली कई बार पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल आपके बच्चे की त्वचा पर बुरा असर डाल सकता है। यह उसकी त्वचा की पोषण अवशोषण की क्षमता को भी खत्म कर सकता है और त्वचा में मौजूद कोलाजन को भी तोड़ सकता है।
     
  • सूज सकती है त्वचा – पेट्रोलियम जेली का अधिक इस्तेमाल आपके बच्चे की त्वचा पर सूजन भी पैदा कर सकता है। इसके अलावा अगर आप मां हैं और आप भी इसका अधिक यूज करती हैं, तो ये आपके हार्मोंस को असंतुलित कर सकता है।

इसे भी पढ़ें: जानिए घर में नेचुरल तरीके से लिप बाम कैसे बनाएं?

  • कई तरह की बीमारियां - पेट्रोलियम जेली में मौजूद हाइड्रो कार्बन शरीर के अंदर आसानी से जाकर फैट कोशिकाओं में जमा हो जाता है, जो बच्चे की त्वचा व शरीर के लिए बेहद हानिकारक है। इससे कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं।
     
  • मिनरल ऑयल भी खतरनाक - खाना खाने व सांस लेने के दौरान भी पेट्रोलियम जेली में पाया जाने वाला मिनरल ऑयल हाइड्रोकार्बन शरीर के अंदर चला जाता है। अगर आप मां हैं और बच्चे को स्तनपान करा रही हैं तो हो सकता है कि यह हाइड्रो कार्बन आपके दूध से शिशु के अंदर चला जाए। इससे भी उसे नुकसान पहुंच सकता है। 

आपको यह ब्लॉग कैसा लगा ? हमें अपने कमेन्ट्स के द्वारा जरूर बताएं !

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 6
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Oct 06, 2018

thanks

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Dec 14, 2018

mmmmm

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Oct 01, 2019

Hello Mera 11 month ka baby boy hai use kan mea bhut khujli hoti hai dard se bhut rota hai Dr. Ko v dikhane se thik nhi huaa Please koi upay btaiye

  • Reply | 1 Reply
  • रिपोर्ट

| Nov 01, 2019

आप के बेबी के कान में कीडे है जो सफ़ेद कलर के होते है

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Oct 07, 2019

Ty

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Jun 14, 2020

  • Reply
  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग

Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}