• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
शिशु की देख - रेख खाना और पोषण

10 आहार जिनसे स्तनपान (दूध-पिलाने) वाली माँ को सदैव बचना चाहिए

Prasoon Pankaj
0 से 1 वर्ष

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Feb 06, 2019

10 आहार जिनसे स्तनपान दूध पिलाने वाली माँ को सदैव बचना चाहिए

ये तो तय है कि आपने प्रेग्नेंसी के दौरान अपने खान-पान का पूरा ख्याल रखा होगा और अब जबकि आप शिशु की मां बन चुकी हैं तो इसका मतलब ये नहीं कि आप अपने खान-पान को लेकर लापरवाही बरतना शुरू कर दें। स्तनपान कराने वाली मां के लिए तो संतुलित और पोषक तत्वों से भरपूर आहार लेना अति आवश्यक होता है क्योंकि इस समय में आप जो कुछ भी आहार के रूप में लेती हैं उसके पोषक तत्वों को ही आपका शिशु स्तनपान के माध्यम से ग्रहण करता है। स्तनपान कराने वाली मां को ये जानना बेहद जरूरी है कि इस समय में वे क्या खाएं और क्या नहीं खाएं। इसे भी पढ़ें - क्या हैं दूध बढ़ाने के उपाय स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए?

कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ भी होते हैं जो पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं लेकिन स्तनपान कराने वाली मां को इस तरह की चीजों से बिल्कुल परहेज रखना होता है। तो आइये इस ब्लॉग में हम आपको उन 10 खाद्य पदार्थों के बारे में बताते हैं जिसका सेवन स्तनपान कराने वाली मां को बिल्कुल नहीं करना चाहिए। 

 

स्तनपान कराने वाली मां को इन खाद्य पदार्थों से परहेज रखना चाहिए/ Foods Items to Avoid While Breastfeeding in Hindi

आप इस बात को ऐसे समझें कि इस समय में आप जो कुछ भी खाती हैं या पीती हैं उसका सीधा असर आपके शिशु पर भी होता है। अब जैसे कि कुछ ऐसे सामान जिनको खाने से अगर आपको गैस की समस्या होती है तो आपके शिशु को भी गैस की वजह से पेट में दर्द महसूस हो सकता है। और इसके चलते आपका शिशु असहजता का अनुभव कर सकता है और इसके परिणामस्वरूप वो रोना शुरू कर दे, आप समझ नहीं पाती हैं कि आखिर आपका बच्चा आज इतना ज्यादा क्यों रो रहा है?

ब्रोकली (Broccoli) -

स्तनपान कराने वाली मां को ब्रोकली का सेवन करने से परहेज रखना चाहिए। ब्रोकली से परहेज रखने की बात को जानकर आप चौंक गई होंगी क्योंकि आप तो इसको पोषक तत्वों से भरपूर मानती रही हैं। ये बात बिल्कुल सच है कि ब्रोकली पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ है लेकिन अगर आप ब्रोकली खाने में लेती हैं तो इसका असर बच्चे  पर भी होता है और घबराहट की वजह से शिशु को पेट दर्द भी हो सकती है। अगर आपको इस समय में ब्रोकली खाना ही है तो उसको कम मात्रा में सेवन करें। कच्चा ब्रोकली खाने की बजाय आप इसको अच्छे से पका कर खाएं तो इसका प्रभाव आपके शिशु पर नहीं पड़ेगा।
 

खट्टे फल -

स्तनपान कराने वाली मां को खट्टे फलों से भी परहेज रखना चाहिए। इसकी वजह ये है कि चूंकि खट्टे फलों में विटामिन सी अधिक मात्रा में पाया जाता है और इसके चलते मां के दूध में अम्ल ज्यादा बनता है। इन कारणों से बच्चे का पेट खराब हो सकता है। वैसे खाद्य पदार्थ जिनमें बहुत ज्यादा मात्रा में फाइबर या शुगर हो और वे गैस बनाते हों तो इसका सेवन करने से दुग्धपान करने के बाद बच्चे के पेट में भी गैस बन सकता है। इतना ही नहीं शिशु को पाचन संबंधी समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है। अब आप सोच रही होंगी कि शरीर में विटामिन सी की पूर्ति के लिए फिर क्या करना चाहिए तो इसका जवाब ये है कि आप खट्टे फलों की बजाय पपीता खा सकती हैं। पपीता इस समय में आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।
 

कॉफी(Coffee) -

हम समझ सकते हैं कि प्रेग्नेंसी के दौरान आपने कॉफी पीने की आदतों पर कंट्रोल कर रखा था और अब प्रेग्नेंसी के बाद आप जी भर कर कॉफी पीना चाहती हैं लेकिन रूकिए, अपने इस शौक को पूरा करने के लिए आपको कुछ और दिनों का इंतजार करना चाहिए। इसकी वजह ये है कि कॉफी में पाया जाने वाला कैफीन मां के दूध में मिल जाता है और इसके चलते आपके शिशु को चिड़चिड़ाहट और नींद की कमी जैसे समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।
 

लहसुन (Garlic) -

लहसुन की तासीर गर्म होती है और ये आपके शिशु के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। लहसुन की गंध से भी आपके शिशु को समस्या हो सकती है। अगर आप लहसुन का सेवन करती हैं तो इसके खाने के 2 घंटे बाद तक भी इसकी गंध दूध में मौजूद रहती है। इसलिए हमारा सुझाव है कि आप इन दिनों लहसुन का सेवन कम ही करें तो बेहतर रहेगा।
 

पुदीना (Peppermint) -

ऐसे तो पुदीना के बहुत सारे फायदे होते हैं और पुदीना की चटनी के तो हम सब दीवाने हैं लेकिन इस समय में आपको इसलिए परहेज करने की जरूरत है क्योंकि पुदीना दूध के उत्पादन में कमी ला सकती है। इसलिए स्तनपान कराने वाली मां को पुदीना युक्त चाय, चटनी या पुदीने को किसी भी रूप में सेवन करने से बचना चाहिए। 
 

मक्का(Maize) -

कई परिस्थितियों में पाया गया है कि मक्के से बच्चे को एलर्जी होती है हालांकि आपके शिशु को मक्के से एलर्जी है या नहीं इसकी जांच करने में वक्त लग सकता है लेकिन सावधानी के तौर पर अभी मां को मक्के का सेवन करने से बचना चाहिए।
 

चॉकलेट(Chocolate)-

चॉकलेट भला किसको अच्छा नहीं लगता है लेकिन ये तो आपको पता ही होगा कि चॉकलेट को बनाने की प्रक्रिया के दौरान कॉफी के कैफीन का इस्तेमाल किया जाता है। और जैसा की हमने आपको ऊपर ही बता दिया है कि कैफीन की थोड़ी सी मात्रा भी शिशु को नुकसान पहुंचा सकती है तो इसलिए अभी कुछ दिनों के लिए आप चॉकलेट से दूरी बना कर ही चलें तो अच्छा। [जरूर पढ़ें - कैसे जानें की नवजात शिशु ने पर्याप्त दूध पिया या नहीं?

 

राजमा(Beans) -

राजमा-चावल का नाम सुनते ही खाने का मन करने लगता है लेकिन राजमा खाने से पेट में गैस बनती है। तो इस बात को ध्यान में रखते हुए फिलहाल आपको राजमा का सेवन नहीं करना चाहिए।
 

मूली (Radish) और पत्ता गोभी (Cabbage) -

मूली और पत्ता गोभी अगर आपके फ्रीज में रखा हुआ है तो उसको अभी हटा दें क्योंकि इस समय में स्तनपान कराने वाली मां को इन दोनों चीजों से परहेज रखना ही चाहिए। मूली और पत्ता गोभी पेट में गैस तो बनाते ही हैं इसके साथ ही आपके शिशु को पाचन संबंधी परेशानियां भी पैदा कर सकती है। 
 

मूंगफली (Peanut) -

मूंगफली खाने से भी एलर्जी हो सकती है। वैसे खाद्य पदार्थ जिनसे बच्चे को एलर्जी होने की संभावना बन सकती है उनसे मां को दूरी बना कर रखनी चाहिए। 

 

स्तनपान कराने के समय में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए? / What Precautions While Breastfeeding in Hindi?

हर उस माँ को जो अपने नवजात को स्तनपान करा रही है उसे यहाँ दी गई कुछ सावधानियों का पालन अवश्य चाहिएकरना। जरूर पढ़ें...

  • जब आप स्तनपान (Breastfeeding) करा रही होती हैं तो अपने पास में कुछ पेय पदार्थ जरूर रख लें जैसे कि पानी, दूध या फलों का रस।
     
  • स्तनपान कराने के समय में आपके बॉडी में ऑक्सीटोसिन नामका हॉर्मोन निकलता है और इसके चलते ही आपको प्यास का अनुभव होने लगता है।
     
  • स्तनपान कराने से पहले आप पानी जरूर पी लें और इसके बाद भी अगर प्यास लग रही हो तो पानी जरूर पीती रहें।

​​[जरूर जानें - उपाय अगर बच्चा मां का दूध पीना अचानक बंद कर दे]

  • ताजे फल और सब्जियों का भरपूर सेवन करें
     
  • प्रोटीन, कैल्शियम और आयरन से भरपूर खाद्य पदार्थां का सेवन करें
     
  • अगर कभी आपको कुछ चटपटा खाने का दिल करे तो थोड़ी मात्रा में खा सकती हैं लेकिन इसके बाद अजवाइन और सौंफ का पानी जरूर पी लें। इस नुस्खे की वजह से आपके शिशु को पेट दर्द नहीं होगा

 

कुल मिलाकर आप उन खाद्य पदार्थों से परहेज करें जिनको खाने से एसिडिटी या गैस बनने की संभावना बनी रहती है। 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 6
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Apr 23, 2019

thanks

  • रिपोर्ट

| Apr 09, 2019

very helpful information! thank you!

  • रिपोर्ट

| Apr 09, 2019

thanks

  • रिपोर्ट

| Feb 13, 2019

Thanks

  • रिपोर्ट

| Jan 28, 2019

thanks for this information

  • रिपोर्ट

| Jan 28, 2019

thanks for this information

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}